प्रयागराज: कस्तूरबा गांधी स्कूल में सेप्टिक टैंक के गड्ढे में गिरने से 5 छात्राएं घायल

Somya Sri, Last updated: Sun, 12th Dec 2021, 11:57 AM IST
  • प्रयागराज की फाफामऊ गोहरी में स्थित कस्तूरबा गांधी विद्यालय में सेप्टिक टैंक के लिए खोदी गई मिट्टी के गड्ढे में 5 छात्राएं गिर गई. वहीं मिट्टी का टीला ढहने से सभी छात्राएं गंभीर रूप से घायल हो गयी. फिलहाल सभी का इलाज चल रहा है. वहीं विद्यालय प्रशासन पर आरोप लगाया जा रहा है कि स्कूल की छात्राओं से ही सेप्टिक टैंक के लिए मिट्टी पटवाई जा रही थी. जिस दौरान यह हादसा हो गया.
प्रयागराज के कस्तूरबा गांधी विद्यालय में सेप्टिक टैंक के गड्ढे में गिरने से 5 छात्राएं घायल (प्रतिकात्मक फोटो)

प्रयाजराज: प्रयागराज से बड़ी खबर सामने आ रही है. सेप्टिक टैंक के गड्ढे में गिरने से 5 छात्राएं जख्मी हो गई. यह हादसा प्रयागराज की फाफामऊ गोहरी में स्थित कस्तूरबा गांधी विद्यालय में हुआ है. बताया जा रहा है कि सेप्टिक टैंक के लिए मिट्टी खोदा जा रहा था. जिसमें 5 छात्राएं गिर गई . वहीं सेप्टिक टैंक के लिए खोदी गयी मिट्टी का टीला ढह गया. जिससे दो छात्राएं गंभीर रूप से घायल हो गयी. हालांकि इस हादसे में विद्यालय प्रशासन पर आरोप लगाया जा रहा है कि स्कूल की छात्राओं से ही सेप्टिक टैंक के लिए मिट्टी पटवाई जा रही थी. वहीं इस दौरान ही सेप्टिक टैंक के लिए खोदी गयी मिट्टी का टीला ढह गया जिससे 5 छात्राएं घायल हो गयी. जबकि 2 छात्राओं की हालात गम्भीर हैं. फिलहाल सभी को नजदीकी सदर अस्पताल में भर्ती कर दिया गया हैं जहां सभी का इलाज चल रहा है.

बता दें कि अभी तक इस बात की पुष्टि नहीं हुई है कि विद्यालय के छात्राओं द्वारा ही मिट्टी पटवाई जा रही थी. हालांकि आरोप लगाए गए हैं कि विद्यालय प्रशासन की ओर से ही यह काम करवाया जा रहा था. अगर आगे चलकर इस बात की पुष्टि होती है तो ये बेहद ही शर्मनाक होगा क्योंकि जख्मी होने वाली छात्राओं की उम्र मात्र 7 से 13 साल के बीच की बताई जा रही है.

AU: आमरण अनशन पर बैठे छात्रों में से 30 की बिगड़ी हालत, लाइब्रेरी गेट बंद, DSW का घेराव जारी

वहीं बता दें कि ये पहला ऐसा मामला नहीं है जब मिट्टी का टीला ढहने से कोई घायल हुआ हो. इससे पहले भी कई खबर सामने आ चूंकि हैं जिसमें मिट्टी का टीला के ढहने और उसके अंदर दबने से लोगों की मौत हो जाती है. हालांकि इस दौरान जरूरी है कि इस मामले में लोग चौकन्ना रहे और काम करने के दौरान भी कोई अनहोनी ना हो इसे लेकर जागरूक रहें.

अन्य खबरें