इलाहबाद हाईकोर्ट ने की Ex Justice के साइबर ठगी मामले में आरोपियों की जमानत खारिज

MRITYUNJAY CHAUDHARY, Last updated: Thu, 13th Jan 2022, 11:40 AM IST
  • इलाहाबद हाईकोर्ट ने पूर्व न्यायमूर्ति से साइबर ठगी करने के आरोपियों की जमानत याचिका खारिज कर दी. वहीं इस सुनवाई के दौरान कोर्ट ने कहा कि वहीं देश में ऐसे लोग भी हैं जो करोड़ों रुपये बैंक में जमा ना करके घरों में तहखानों में छिपा कर रखते हैं. जिससे ना तो बैंक को कोई लाभ होता है, बल्कि देश की आर्थिक स्थिति भी खोखली होती है.
इलाहबाद हाईकोर्ट ने की Ex जज के साइबर ठगी मामले में आरोपियों की जमानत खारिज

प्रयागराज (भाषा). इलाहबाद उच्च न्यायालय ने साइबर ठगी करने वाले आरोपियों की जामनत याचिका खारिज कर दी. हाईकोर्ट ने इस सुनवाई के दौरान कहा कि इससे देश की आर्थिक स्थिति खोखली होती है. दरअसल इलाहबाद हाईकोर्ट में साइबर ठगी के माध्यम से पूर्व न्यायमूर्ति के बैंक खाते से पांच लाख रुपये निकालने के आरोपियों ने जमानत याचिका दायर की थी. जिसकी सुनवाई के दौरान कोर्ट ने इसे खारिज कर दिया. न्यायमूर्ति शेखर कुमार यादव ने याचिकाकर्ता नीरज मंडल, तपन मंडल, शूबो शाह और तौसीफ जमां की जमानत की अर्जी पर सुनवाई करते हुए यह आदेश पारित किया.

अदालत ने कहा कि बैंक खाताधारकों का पैसा सुरक्षित रहना चाहिए क्योंकि ग्राहकों द्वारा बैंक में जमा पैसा 'वैध धन' होता है जिससे देश की आर्थिक स्थिति सुधरती है. अदालत ने कहा कि, वहीं देश में ऐसे लोग भी हैं जो करोड़ों रुपये बैंक में जमा ना करके घरों में तहखानों में छिपा कर रखते हैं जिससे ना तो बैंक को कोई लाभ होता है, बल्कि देश की आर्थिक स्थिति भी खोखली होती है. अदालत ने कहा कि अगर किसी भी प्रकार से साइबर अपराधियों द्वारा ग्राहक के बैंक खाते को निशाना बनाकर पैसा निकाला जाता है तो इसके लिए बैंक को ही इसकी जिम्मेदारी लेनी होगी.

Prayagraj Magh Mela: माघ मेला में मास्क न लगाने पर 6 पुलिसकर्मियों का कटा चालान, Video

उल्लेखनीय है कि इलाहाबाद उच्च न्यायालय की पूर्व न्यायाधीश पूनम श्रीवास्तव ने आठ दिसंबर, 2020 को प्रयागराज के कैंट थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई. प्राथमिकी के मुताबिक, चार दिसंबर, 2020 को श्रीवास्तव के मोबाइल पर एक व्यक्ति ने अपना नाम एसएन मिश्रा बताते हुए एक दूसरे नंबर पर पासबुक, आधार और पैन का विवरण मांगा. ये विवरण उपलब्ध कराने पर पूर्व न्यायमूर्ति के बैंक खाते से पांच लाख रुपये का गबन कर लिया गया.

अन्य खबरें