फर्जी आईपीएस बन शिक्षक को किया ब्लैकमेल, पुलिस की गिरफ्त में आया जालसाज

Somya Sri, Last updated: Mon, 11th Oct 2021, 1:27 PM IST
  • प्रयागराज में फर्जी आईपीएस ऑफिसर बनकर एक युवक प्राइमरी स्कूल की जांच करने पहुंच गया. आरोपी ने अपना नाम रविंद्र कुमार पटेल बताया. आरोपी को वर्दी में पाकर अध्यापक ने फर्जी आईपीएस ऑफिसर पर यकीन कर लिया और जांच में सहयोग करने लगा. हालांकि शक होने पर उसने शिकायत दर्ज कराई. जिसके बाद एसटीएफ की प्रयागराज यूनिट ने जाल बिछाकर फर्जी आईपीएस को गिरफ्तार कर लिया.
फर्जी आईपीएस बन शिक्षक को किया ब्लैकमेल, पुलिस की गिरफ्त में आया जालसाज (प्रतिकात्मक फोटो)

प्रयागराज: प्रयागराज में फर्जी आईपीएस ऑफिसर बनकर एक युवक द्वारा एक प्राथमिक शिक्षक को ब्लैकमेल करने का मामला सामने आया है. युवक ने खुद को आईपीएस ऑफिसर बताया और प्राइमरी स्कूल की जांच करने पहुंच गया. प्राइमरी स्कूल के सहायक अध्यापक राजेश सिंह के सामने युवक ने खुद को एसटीएफ लखनऊ का आईपीएस ऑफिसर बताया. आरोपी ने अपना नाम रविंद्र कुमार पटेल बताया. आरोपी को वर्दी में पाकर अध्यापक ने फर्जी आईपीएस ऑफिसर पर यकीन कर लिया और जांच में सहयोग करने लगा.

बताया जा रहा है कि फर्जी आईपीएस ऑफिसर रविंद्र कुमार पटेल ने शिक्षा मित्र सुशील कुमार सिंह की जांच करने आया हूं, ऐसा कहकर शिक्षा मित्र की उपस्थिति का पूरा विवरण प्राप्त किया. उसने साल 2006 से लेकर 2019 के प्रत्येक पृष्ठ की छाया प्रति ले ली. बता दें कि सुशील कुमार सिंह प्राथमिक विद्यालय मनकापुर सरसावा कौशांबी में सहायक अध्यापक पद पर कार्यरत हैं. इधर फर्जी आईपीएस ने सहायक अध्यापक राजेश सिंह और सुशील सिंह दोनों को फोन कर जेल भेजने की धमकी देने लगा. उन्हें लगातार ब्लैकमेल करता रहा.

प्रयागराज: फर्जी पुलिसकर्मी बन लुटे सोने की चेन, जानें कैसे दिया वारदात को अंजाम

एक दिन फर्जी आईपीएस ने दोनों को प्रयागराज के पी एच क्यू गेस्ट हाउस में ठहरे होने की जानकारी दी और वहां मिलने भी बुलाया. जब दोनों वहां पहुंचे तो फर्जी आईपीएस ने उन्हें हनुमान मंदिर के पास बुलाया. वहां पहुंचने पर जब आरोपी खुद नहीं मिला तो राजेश सिंह और सुशील सिंह को शक हुआ. वे लोग तुरंत थाना गए और शिकायत दर्ज कराई. जिसके बाद एसटीएफ की प्रयागराज यूनिट ने जाल बिछाकर फर्जी आईपीएस को गिरफ्तार कर लिया. आईपीसी की धारा 170, 171, 419 और 420 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है. फिलहाल आरोपी को जेल भेजने की कार्रवाई की जा रही है. पकड़ा गया फर्जी आईपीएस विपिन कुमार चौधरी बड़ी अढ़ौली कुम्हियांवा महेवाघाट कौशांबी का रहने वाला है.

अन्य खबरें