पूर्वांचल एक्सप्रेसवे उद्घाटन: PM मोदी के कार्यक्रम में लगी 170 सरकारी बसें, जनता परेशान

Mithilesh Kumar Patel, Last updated: Tue, 16th Nov 2021, 7:19 PM IST
  • पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे उद्घाटन कार्यक्रम के लिए प्रयागराज से सरकारी 170 बसों को सुल्तानपुर भेजा गया है. जिसके चलते सूबे के पूर्वी हिस्सों गोरखपुर, मऊ, आजमगढ़, जौनपुर, वाराणसी समेत अन्य प्रमुख शहरों में जाने वाली जनता परेशान हो गई है. भारी संख्या में बस स्टैंड पर मौजूद राहगीरों को 2 दिन दिक्कत होगी.
प्रतीकात्मक फोटो

प्रयागराज. उत्तर प्रदेश के प्रयागराज यानी इलाहाबाद से सूबे के पूर्वी जिलों गोरखपुर, मऊ, आजमगढ़, जौनपुर, वाराणसी समेत अन्य प्रमुख शहरों की ओर जाने वाले यात्रियों को 2 दिन खासा मुश्किलों का सामना पड़ेगा. दरअसल जिले से अन्य शहरों को ले जाने वाली उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन की 170 बसों को सुल्तानपुर भेजा गया है. मंगलवार 16 नवंबर को सुल्तानपुर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के उद्घाटन कार्यक्रम में शिरकत करने वाले थे. इसी मकसद से अन्य जिलों से लोगों को उद्घाटन समारोह में पहुचाने के लिए शासन के आदेश पर इन बसों को तैनात किया गया है. इस पर प्रयागराज स्थित सिविल लाइंस बस स्टैंड की इंचार्ज माधुरी तिवारी ने बताया कि प्रयाग डिपो की 40 बसें सुल्तानपुर गई हैं. इससे कुछ परेशानी हो रही है. ज्यादातर बसों के फेरे बढ़ाए गए हैं.

यूपी विधानसभा चुनाव जेसे जैसे नजदीक आ रहा है वैसे वैसे दिल्ली के नेताओं का जमावड़ा सूबे में बढ़ रहा है. यही कारण है कि सूबे के अलग अलग हिस्सों में स्थानीय नेताओं के आलावा अन्य प्रमुख नेता की रैली भी जोर-शोर से हो रही है. मंगलवार को सुल्तानपुर में प्रधानमंत्री मोदी की रैली भी हुई. दरअसल पीएम इस चुनावी रैली के साथ-साथ पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन भी करने वाले थे. इस उद्घाटन कार्यक्रम के बाद एयरफोर्स फाइटर प्लेन का जबरदस्त एयरसो भी होने वाला था. ऐसे में प्रदेश के ज्यादा ज्यादा लोगों का जमावड़ा होना तय था. इसी के चलते शासन ने अपनी तरफ से व्यवस्थाओं में कोई कमी नहीं होने दी. लोगों को उद्घाटन स्थल तक पहुंचने में कोई दिक्कत न हो इसके लिए प्रयागराज की 170 बसों को सुल्तानपुर भेजा है. यहीं कारण है कि प्रयागराज के सिविल लाइंस बस स्टैंड पर भारी संख्या में राहगीर भटकते नजर आए. रैली में भारी संख्या में बसों को जिले से सुल्तानपुर भेजने का खामियाजा सिविल लाइंस बस स्टैंड पहुंने वाले यात्रियों को भुगतना पड़ रहा है. बस स्टैंड के पूछताछ काउंटर पर राहगीर बसों की कमी कारण जानना चाह रहे हैं. और कई वह पूछताछ काउंटर पर बैठे कर्मचारी से जानने में लगे हैं मगर उनकी तरफ से बस एक ही जवाब सुनने को मिल रहा है कि 2 दिनों तक बसों की कमी रहेगी.

UP में डेंगू ने तोड़ा 8 साल का रिकॉर्ड, 25800 लोग संक्रमित, यह जिले हैं अधिक प्रभावित

पूर्वांचल की तरफ जाने वाले बसों की तलाश में भटक रहे राहगीरों को खासा परेशानीयों का सामना करना पड़ रहा है. प्रयागराज से गोरखपुर, मऊ, आजमगढ़, जौनपुर, वाराणसी समेत अन्य शहरों को जाने वाले राहगीरों की संख्या ज्यादा देखी जा रही हैं बताया जा रहा है कि बसों के फेरों की संख्या बढ़ाई गई हैं ऐसे में इन शहरों के लिए जो भी बसें आ रही हैं वह तुरंत यात्रियों से खचाखच भर जा रही हैं. सरकारी बसों के न होने के चलते राहगीरों की सहारा प्राइवेट बस भर है. और ये बसें, स्टैंड के गेट पर पहुंचकर राहगीरों को उनके जिले की ओर ले जाने का काम कर रही हैं. ऐसे में उनके जेब का खर्च भी बढ़ गया है.

अन्य खबरें