बिजली बकायेदारों को सरचार्ज में 50 से 100 फीसद तक छूट, 30 नवंबर तक उठाये OTS का लाभ

Somya Sri, Last updated: Sun, 24th Oct 2021, 4:38 PM IST
  • वन टाइम सेटेलमेंट स्कीम के तहत प्रयागराज में बिजली बकायेदारों को सरचार्ज में 50 से लेकर 100 फीसद तक की छूट मिलेगी. ओटीएस का लाभ लेने के लिए बिजली बकायेदारों के पास 30 नवंबर तक का ही समय है. इस बार ओटीएस स्कीम में बिजली बकायेदारों को रजिस्ट्रेशन कराने की जरूरत नहीं पड़ेगी. सरचार्ज माफ होने के बाद अब सीधे भुगतान किया जा सकेगा.
बिजली बकायेदारों को सरचार्ज में 50 से 100 फीसद तक छूट, 30 नवंबर तक उठाये OTS का लाभ ( प्रतिकात्मक फोटो)

प्रयागराज: एकमुश्त समाधान योजना यानी वन टाइम सेटेलमेंट स्कीम के तहत प्रयागराज में बिजली बकायेदारों को सरचार्ज में 50 से लेकर 100 फीसद तक की छूट मिलेगी. ओटीएस का लाभ लेने के लिए बिजली बकायेदारों के पास 30 नवंबर तक का ही समय है. इस दौरान बिजली विभाग की ओर से भी ओटीएस स्कीम का प्रचार भी जोरो से किया जा रहा है. बिजली विभाग के कई उप केंद्रों पर इस योजना से संबंधित बैनर लगाए जा रहे हैं. ताकि अधिक से अधिक लोग इस योजना का लाभ उठा सकें.

मिली जानकारी के मुताबिक इस बार ओटीएस स्कीम में बिजली बकायेदारों को रजिस्ट्रेशन कराने की जरूरत नहीं पड़ेगी. बिना रजिस्ट्रेशन के ही बकायदार अपना सरचार्ज माफ करा सकते हैं. बिजली बकायेदारों को सरचार्ज में 50 से लेकर 100 फीसद तक की छूट प्रदान की जाएगी. सरचार्ज माफ होने के बाद अब सीधे भुगतान किया जा सकेगा.

इलाहाबाद: रिव्यू ऑफिसर के पदों के लिए आवेदन शुरू, ऐसे करें नौकरी के लिए अप्लाई

बता दें कि पिछली बार की तरह इस बार इस योजना का लाभ उठाने वाले लोगों की संख्या अबतक बहुत कम रही है. यही कारण है कि बिजली विभाग लोगों को इस संबंध में जागरूक कर रहा है. बताया जा रहा है कि सांसद, विधायक, एमएलसी, ब्लॉक प्रमुख, जिला पंचायत सदस्य, क्षेत्र पंचायत सदस्य सहित कई नेताओं को इस योजना से संबंधित पैम्पलेट दिए जा रहे हैं. ताकि ये गणमान्य लोग अन्य लोगों को इस योजना का लाभ उठाने के लिए प्रेरित कर सकें. इसके अलावा बिजली विभाग के कर्मचारी भी मोहल्ले और बाजारों का भ्रमण कर लोगों को इस योजना से संबंधित पैमप्लेट बांट रहे हैं.

बिजली विभाग के मुख्‍य अभियंता विनोद गंगवार ने कहा कि बकाएदारों को हमेशा ओटीएस से लाभ होता है. सरचार्ज माफ होने से बिजली का बिल कम हो जाता है. साथ ही किश्त के रूप में भी बकाएदार भुगतान कर सकते हैं. योजना के प्रचार के लिए सभी अधिकारियों और कर्मचारियों को निर्देश दिए गए हैं. चार अधिकारियों को निगरानी के लिए भी लगाया गया है.

अन्य खबरें