UPTET Exam: कड़ी सुरक्षा के बीच यूपी टीईटी परीक्षा आज, 21.65 लाख अभ्यर्थी होंगे शामिल

Sumit Rajak, Last updated: Sun, 23rd Jan 2022, 9:45 AM IST
  • कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच रविवार को दो पालियों में उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (यूपी-टीईटी) 2021 कराई जाएगी. प्रदेश के सभी 75 जिलों में बनाए गए केंद्रों पर कुल 21,65,181 अभ्यर्थी परीक्षा में सम्मिलित होंगे. पेपर लीक के कारण 28 नवंबर को निरस्त होने के बाद दोबारा से नकलविहीन परीक्षा कराने के लिए एसटीएफ और एलआईयू की टीमें लगाई गई हैं.
UPTET Exam (फाइल फोटो) 

 

प्रयागराज. कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच रविवार को दो पालियों में उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (यूपी-टीईटी) 2021 कराई जाएगी. प्रदेश के सभी 75 जिलों में बनाए गए केंद्रों पर कुल 21,65,181 अभ्यर्थी परीक्षा में सम्मिलित होंगे. पेपर लीक के कारण 28 नवंबर को निरस्त होने के बाद दोबारा से नकलविहीन परीक्षा कराने के लिए एसटीएफ और एलआईयू की टीमें लगाई गई हैं. अभ्यर्थियों को केंद्रों पर परीक्षा शुरू होने के आधे घंटे पहले तक ही प्रवेश मिलेगा. उसके बाद किसी भी कारण से प्रवेश के लिए अनुमति नहीं दी जाएगी.

कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए परीक्षा केंद्रों के दरवाजे डेढ़ घंटे पहले ही खोल दिए जाएंगे, जिससे केंद्रों पर भीड़ जमा न हो और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए अभ्यर्थियों को परीक्षा कक्ष में प्रवेश करने में कठिनाई का सामना न करना पड़े. सुबह 10 से 12:30 बजे की पहली पाली में 2532 केंद्रों पर प्राथमिक स्तर की परीक्षा के लिए 1291628 अभ्यर्थी पंजीकृत हैं. दोपहर 2:30 से 5 बजे की दूसरी पाली में 1733 केन्द्रों पर 873553 परीक्षार्थी उच्च प्राथमिक स्तर की परीक्षा में सम्मिलित होंगे. रविवार को यूपी-टीईटी में कक्ष निरीक्षण के लिए जिले में 423 परिषदीय शिक्षकों की ड्यूटी लगाई गई है. बेसिक शिक्षा अधिकारी प्रवीण कुमार तिवारी ने खंड शिक्षाधिकारियों को आवश्यकता के अनुरूप केंद्रों को शिक्षकों की सूची उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं. जिले में पहली पाली में 183 केंद्रों पर 84017 और 2:30 से 5 बजे की दूसरी पाली में 132 केंद्रों पर 59895 परीक्षार्थी परीक्षा में सम्मिलित होंगे.

UPTET 2021 : सेंटर जाने से पहले जरूर पढ़ें गाइडलाइन्स, जानें किन बातों का रखें खास ध्यान

सभी परीक्षा केंद्रों पर कोविड हेल्प डेस्क के साथ मास्क, थर्मल स्कैनर, ऑक्सीमीटर, सेनेटाइजर की पर्याप्त व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए हैं. परीक्षा कार्य में लगे किसी भी अधिकारी या कर्मचारी के पास एंड्रॉयड मोबाइल नहीं रहेगा. मात्र केंद्र व्यवस्थापक, पर्यवेक्षक, सेक्टर मजिस्ट्रेट एवं स्टैटिक मजिस्ट्रेट कैमरा रहित की-पैड वाला मोबाइल प्रयोग कर सकेंगे.

 

अन्य खबरें