घर से दरिद्रता दूर करने के लिए शुक्रवार को इस विधि से करें पूजा, बरसेगा धन दूर होगी कंगाली

Pallawi Kumari, Last updated: Fri, 8th Oct 2021, 6:08 AM IST
  • देवी लक्ष्मी को धन- वैभव और सुख-समृद्धि के लिए जाना जाता है. जिस घर में मां लक्ष्मी की पूजा होती है, वहां कभी कंगाली नहीं आती है. लेकिन कभी-कभी ऐसा होता है कि हमें पूजा का संपूर्ण फल नहीं मिल पाता. ऐसे में शुक्रवार के दिन पूजा के साथ इन बातों का ध्यान रखा जाए तो मां लक्ष्मी की कृपा बनी रहती है.
शुक्रवार  लक्ष्मी पूजा विधि.

धार्मिक मान्यता के अनुसार शुक्रवार का दिन देवी लक्ष्मी की पूजा के लिए खास होता है. शुक्रवार के दिन मान्यता है कि मां लक्ष्मी की पूजा अर्चना विधि विधान से करने से उनकी कृपा बनी रहती है और घर में धन-धान्य की कोई कमी नहीं आती. व्यक्ति के घर की तिजोरी हमेशा भरी होती है और उसे जीवनभर किसी के सामने हाथ नहीं फैलाना पड़ता. वैसे तो रोजाना ही हर घर में मां लक्ष्मी की पूजा व आऱती की जाती है लेकिन शुक्रवार का दिन देवी लक्ष्मी का दिन होता है. इसलिए अगर इस दिन मां लक्ष्मी की पूजा, व्रत, कथा, मंत्र व आरती की जाए तो मां प्रसन्न होकर शीघ्र ही अपने भक्तों को आशीर्वाद देती है.

लेकिन कभी-कभी ऐसा होता है कि हमें पूजा का पूर्ण फल नहीं मिल पाता. पूजा पाठ करने के बाद भी मां लक्ष्मी का आशीर्वाद नहीं मिल पाता. ऐसे में आप मां लक्ष्मी की पूजा करते समय शुक्रवार के दिन पूजा के दौरान इन खास बातों का ध्यान रखेंगे तो जरूर आपकी पूजा सफल होगी और मां लक्ष्मी आपकी पूजा से प्रसन्न होकर आशीर्वाद देंगी. शुक्रवार के दिन वैसे तो हर व्यक्ति को पूजा करनी चाहिए. लेकिन खास कर दरिद्रता, कर्ज, रोग झेल रहे लोगों को हर शुक्रवार मां लक्ष्मी की पूजा करनी चाहिए. आइये जानते हैं शुक्रवार के दिन पूजा के दौरान करने वाले कुछ खास उपाय.

Navratri 2021: नवरात्रि के नौ दिन जरूर रखें इन बातों का ध्यान, जानें उपवास के नियम

1. शुक्रवार के दिन लक्ष्मी मां के मंदिर में जाकर उन्हें लाल चुनरी या वस्त्र चढ़ाएं. साथ ही सुहाग की चीजें जैसे लाल बिंदी, सिंदूर, लाल चूड़ी और और फूल चढ़ाएं. मां को लाल रंग प्रिय होता है और सुहाग की लाल चीजें चढ़ाना शुभ माना जाता है. इससे लक्ष्मी मां की प्रसन्न होती है और कृपा बनाए रखती है.

2. मां को लाल रंग चढ़ाने के साथ ही खुद भी लाल रंग का वस्त्र धारण करें. लाल वस्त्र पहनकर ही मां लक्ष्मी की पूजा में बैठे.

3. शुक्रवार के दिन लाल रंग के कपड़े का एक पोटली बना लें और इसमें सवा किलो चावल रखें. ध्यान रखें टूटे चावल का प्रयोग पूजा में कभी नहीं करना चाहिए. साबूत चावल को हाथ में रखकर ओम श्रीं नम: मंत्र का पांच बार जाप करें और फिर इस पोटली को घर पर रखें व्यापारी अपने दुकान की तिजोरी में भी इस पोटली को रख सकते हैं.

4. शुक्रवार को पूजा के दौरान पांच लाल रंग के फूल हाथ में रखकर मां लक्ष्मी का ध्यान करें. पूजा के बाद इस फूल को भी घर के तिजोरी में रख दें.

5. लक्ष्मी मां की पूजा करने के साथ साथ शुक्रवार को भगवान नारायण की पूजा भी करनी चाहिए. इस दिन घर पर लक्ष्मी नारायण का पाठ करें औऱ खीर का भोग लगाएं.

नवरात्रि व्रत में कब क्या और कितना खाना है सबकुछ जान पाएंगे इन पांच ऐप के जरिए

अन्य खबरें