Magh 2022: कब है माघ पूर्णिमा, जानिए इस खास दिन का महत्व, पूजा विधि और मुहूर्त

Pallawi Kumari, Last updated: Wed, 19th Jan 2022, 5:09 PM IST
  • माघ मास में पड़ने वाली पूर्णिमा को माघी पूर्णिमा भी कहा जाता है. माघ का पावन महीना पूजा-पाठ और व्रत-त्योहार के शुभ माना जाता है. वैसे को हर महीने पूर्णिमा पड़ती है. लेकिन माघ पास में पड़ने वाली माघी पूर्णिमा का विशेष महत्व होता है. आइये जानते हैं कब है माघी पूर्णिमा और क्या है इसका महत्व.
माघ पूर्णिमा

हिंदू कैलेंडर के अनुसार माघ साल का 11 वां महीना होता है. वैसे तो हर महीने और साल में कुल 12 पूर्णिमा पड़ती है. लेकिन माघ मास में पड़ने वाली पूर्णिमा को सनातन धर्म में विशेष महत्व दिया जाता है. माघ महीने में पड़ने के कारण इसे माघी पूर्णिमा के नाम से भी जाना जाता है. सभी पूर्णिमा की तरह माघी पूर्णिमा में भी पवित्र नदी में स्नान, दान और पूजा का खास महत्व होता है. 

माघ महीने में कई जगहों पर कुंभ मेले का भी आयोजन होता है, जो पूरे एक महीने तक चलता है. पूर्णिमा के दिन यहां भक्तों की भारी भीड़ देखने को मिलती है. आइये जानते हैं कब है माघी पूर्णिमा , शुभ मुहूर्त और महत्व.

Ganesh Jayanti 2022: माघ मास में कब है विनायक चतुर्थी, दो शुभ योग में होगी श्री गणेश पूजा

माघी पूर्णिमा महत्व- 

कहा जाता है कि माघ मास में पड़ने वाली पूर्णिमा तिथि को देवता पृथ्वी पर आते हैं पवित्र गंगा नदी में स्नान करते हैं. इसलिए इस दिन प्रयागराज में गंगा नदी पर स्नान करने के लिए भक्तों की भारी भीड़ इकट्ठा होती है. इन दिन नदी स्नान करने से मोक्ष की प्राप्ति होती है.

माघ पूर्णिमा पूजा विधि-

इस दिन सुबह जल्दी उठें और नदी स्नान करें. इस समय में देशभर में कोरोना महामारी के कारण पवित्र नदियों में स्नान करना सही नहीं है. इसलिए घर पर नहाने के पानी में गंगाजल मिलाकर स्नान करें. नहाने के बाद भगवान सूर्यदेव को 'ॐ नमो नारायणाय' मंत्र का जाप करते हुए अर्घ्य दें. फिर तिलांजलि दें. सूर्य के सन्मुख खड़े होकर जल में तिल डालकर उसका तर्पण करें. 

इस दिन नारायण जी की पूजा करें. भोग में चरणामृत, पान, तिल, मोली, रोली, कुमकुम, फल, फूल, पंचगव्य, सुपारी, दूर्वा आदि चढ़ाएं और अंत में आरती करें. पूर्णिमा के दिन संभव हो तो व्रत जरूर रखें या फलाहार करें. पूजा के बाद जरूरतमंदों और ब्राह्मणों को दान-दक्षिणा दें.

माघी पूर्णिमा शुभ मुहूर्त

माघ पूर्णिमा तिथि- बुधवार, 16 फरवरी 2022

माघ पूर्णिमा मुहूर्त- 16 फरवरी को सुबह 9 बजकर 42 मिनट से रात 10 बजकर 55 मिनट तक.

Saraswati Puja: करियर में चाहिए सफलता तो बसंत पंचमी पर मां सरस्वती को चढ़ाएं ये 5 भोग

 

अन्य खबरें