VIDEO: Goverdhan Pooja में कोड़े खाते रहे CM भूपेश बघेल, इधर ढोल नगाड़े बजते रहे, जानिए वजह

Somya Sri, Last updated: Fri, 5th Nov 2021, 1:32 PM IST
  • छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज गोवर्धन पूजा के अवसर पर दुर्ग जिले स्थित ग्राम जंजगिरी के कुम्हारी पहुंचे. यहां उन्होंने परंपरागत तरीके से गोवर्धन पूजा की और कोड़े का प्रहार झेला. मुख्यमंत्री हर साल गोवर्धन पूजा के मौके पर कोड़े खाते हैं. इस साल भी उन्होंने अपनी परंपरा के मुताबिक कोड़े खाकर गोवर्धन पूजा मनाई. इस दौरान लोग ढोल नगाड़े बजाते रहे. सीएम भूपेश बघेल ने इसकी जानकारी खुद अपने ट्विटर हैंडल पर दी है.
छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, फोटो क्रेडिट (भूपेश बघेल ट्विटर)

रायपुर: भारत देश में हर इंसान अपनी परंपरा अपने तरीकों से त्योहारों को मनाता है. छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भी आज गोवर्धन पूजा अपने परंपरागत तरीके से मनाई. सीएम भूपेश बघेल आज गोवर्धन पूजा के अवसर पर दुर्ग जिले स्थित ग्राम जंजगिरी के कुम्हारी पहुंचे. यहां उन्होंने परंपरागत तरीके से गोवर्धन पूजा की और कोड़े का प्रहार झेला. मुख्यमंत्री हर साल गोवर्धन पूजा के मौके पर कोड़े खाते हैं. इस साल भी उन्होंने अपनी परंपरा के मुताबिक कोड़े खाकर गोवर्धन पूजा मनाई. इस दौरान लोग ढोल नगाड़े बजाते रहे. सीएम भूपेश बघेल ने इसकी जानकारी खुद अपने ट्विटर हैंडल पर दी है.

भूपेश बघेल ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट करते हुए लिखा कि, "प्रदेश की मंगल कामना और शुभ हेतु आज जंजगिरी में सोटा प्रहार सहने की परंपरा निभाई. सभी विघ्नों का नाश हो." इस ट्वीट के साथ उन्होंने एक वीडियो भी शेयर किया. इस वीडियो में साफ दिख रहा है कि भूपेश बघेल कोड़े खाते नजर आ रहे हैं. इस दौरान सीएम के आसपास मौजूद लोग ढोल नगाड़े बजाते दिख रहे हैं. गोवर्धन पूजा के मौके पर लोग जश्न मनाते दिख रहे हैं.

छत्तीसगढ़: दिवाली पर किसानों को 1500 करोड़ का तोहफा, गोबर बेचने वालों की हुई 10 करोड़ कमाई

मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर ग्रामीणों से कहा कि हर साल भरोसा ठाकुर प्रहार करते थे. अब यह परंपरा उनके पुत्र बीरेंद्र ठाकुर निभा रहे हैं. उन्होंने कहा कि गोवर्धन पूजा गोवंश की समृद्धि की परंपरा की पूजा है, जितना समृद्ध गोवंश होगा, उतनी ही हमारी तरक्की होगी. उन्होंने आगे कहा कि हर साल आप लोगों के बीच मैं सुबह-सुबह पहुंचता हूं और मुझे बहुत खुशी होती है. गोवर्धन पूजा लोक के उत्सव की परंपरा है. हमारे पूर्वजों ने बहुत सुंदर छोटी-छोटी परंपराओं का सृजन किया और इन परंपराओं के माध्यम से हमारे जीवन में उल्लास भरता है. आज आप सबके बीच पहुंचकर और इस हर्षित जनसमूह को देखकर मेरा मन भी हर्ष से भर गया है. सीएम भूपेश बघेल ने कहा कि गोवर्धन पूजा और गौरा गौरी पूजा मिट्टी के प्रति गहरे अनुराग का उत्सव है.

अन्य खबरें