Omicron का खौफ: कोरोना की तीसरी लहर का छत्तीसगढ़ में कहर, नई गाइडलाइंस जारी, पढ़ें

Swati Gautam, Last updated: Mon, 10th Jan 2022, 7:54 PM IST
  • छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण के मामलों में हो रही बढ़ोतरी को देखते हुए राज्य सरकार ने नई गाइडलाइंस जारी की हैं. अब से मंत्रालय में बाहरी व्यक्तियों को एंट्री की अनुमति नहीं है. केवल एक तिहाई की संख्या में कर्मचारी उपस्थित होंगे. आने वाले समय में स्थिति में सुधार नहीं होता है तो राज्य के कॉलेज भी बंद किए जा सकते हैं.
छत्तीसगढ़ में बढ़ी सख्ती, मंत्रालय में बाहरियों की NO एंट्री (photo- social media)

रायपुर. देशभर में कोरोना के आंकड़ों में बेहताशा वृद्धि होती जा रही है. छत्तीसगढ़ में भी कोरोना वायरस ने अपने विकराल रूप लेना शुरू कर दिया है जिसके चलते राज्य सरकार ने कोरोना वायरस को लेकर नई गाइडलांइन जारी की हैं. अब से मंत्रालय में बाहरी व्यक्तियों को एंट्री की अनुमति नहीं है. केवल एक तिहाई की संख्या में कर्मचारी उपस्थित होंगे. सार्वजनिक स्थानों पर मास्क नहीं लगाने पर कड़े जुर्माने के निर्देश दिए गए हैं. आने वाले समय में स्थिति में सुधार नहीं होता है तो राज्य के कॉलेज भी बंद किए जा सकते हैं. इसके साथ ही कोरोना पर नियंत्रण पाने में लिए राज्य सरकार ने सभी जिला कलेक्टरों को सभी ऐहतिहाति कदम उठाने के निर्देश दिए हैं.

राज्य सरकार के निर्देशानुसार जिन जिलों में कोविड संक्रमण 4 प्रतिशत या उससे अधिक है वहां संक्रमण की रोकथाम के लिए उन क्षेत्रों को कैटेगरी-ए में रखा जायेगा. कलेक्टरों को जारी निर्देश में यह भी स्पष्ट किया गया है कि यदि कलेक्टर पूरे जिले को कोविड संक्रमण की कैटेगरी-ए में नहीं रखना चाहते हैं, तो अपने जिले के ऐसे क्षेत्र जहां संक्रमण दर अधिक हैं, उन विकासखण्डों को कैटेगरी-ए में रख सकते हैं. इससे जिले के एंड भी एक क्षेत्र में पॉजीटिविटी रेट जानने में मदद मिलेगी.

Chhattisgarh Corona Virus: 24 घंटे में मिले 2502 मामले, दो की मौत

मालूम हो कि जिन जिलों में कोविड संक्रमण की दर 4 प्रतिशत या उससे अधिक है उन्हें कैटेगरी-ए में रखने के आदेश दिए गए हैं. ऐसे में जो जिला कैटेगरी-ए में आता है उन में कई पाबंदियां लगा दी जाएंगी. जैसे रात के समय सभी प्रकार की गैर आर्थिक गतिविधियां रात्रि 10 बजे से सुबह 6 बजे तक बंद रहेंगी. साथ-साथ सभी स्कूल और आंगनबाड़ी केन्द्र, लायब्रेरी, स्वीमिंग पूल एवं अन्य सार्वजनिक स्थान बंद हो जाएंगे. आवश्यकता होने पर धारा 144, महामारी एक्ट का उपयोग भी किया जा सकता है.

अन्य खबरें