छत्तीसगढ़ में मिड डे मील की राशि पहुचेंगी बच्चों के खातों में, कोरोना काल में लिया गया था निर्णय

Somya Sri, Last updated: Fri, 12th Nov 2021, 11:17 AM IST
  • छत्तीसगढ़ स्कूल शिक्षा विभाग की ओर से बच्चों के बैंक खातों में मिड डे मील की कुकिंग कॉस्ट भिजवाने की व्यवस्था शुरू कर दी गई है. भारत सरकार के निर्णय के मुताबिक 1 मई 2021 से 15 जून 2021 के बीच कुल 39 दिनों की मिड डे मील की कुकिंग कॉस्ट स्कूली बच्चों के खातों में भेजी जानी है. प्रदेश में प्राथमिक स्कूल के 17 लाख 97 हजार और मिडिल स्कूल के 10 लाख 79 हजार बच्चों को यह राशि प्रदान की जाएगी.
छत्तीसगढ़ में मिड डे मील की राशि पहुचेंगी बच्चों के खातों में, कोरोना काल में लिया गया था निर्णय (फाइल फोटो)

रायपुर: कोरोना वायरस के कारण लगे लॉकडाउन में केंद्र सरकार की ओर से यह फैसला लिया गया था कि स्कूली बच्चों के बैंक खातों में मिड डे मील की कुकिंग कॉस्ट ट्रांसफर की जाए. भारत सरकार के निर्णय के मुताबिक 1 मई 2021 से 15 जून 2021 के बीच कुल 39 दिनों की मिड डे मील की कुकिंग कॉस्ट स्कूली बच्चों के खातों में भेजी जानी है. इस संदर्भ में छत्तीसगढ़ स्कूल शिक्षा विभाग की ओर से बच्चों के बैंक खातों में राशि भिजवाने की व्यवस्था शुरू कर दी गई है.

लोक शिक्षण संचालनालय में संचालक महेश कुमार नायक के मुताबिक वेबसाइट में जैसे-जैसे बच्चों के खातों की जानकारी अपलोड होती जाएगी, उसके बाद यह राशि उनके खातों में ट्रांसफर होगी. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मिड डे मील की राशि बैंक के माध्यम से सीधे 87 हजार रसोईयों और मिड डे मील संचालनकर्ता लगभग 44 हजार समूहों के खातों में ट्रांसफर होगी.

Padma Awards 2021: राष्ट्रपति कोविंद छत्तीसगढ़ के पंथी नर्तक राधेश्याम बारले को करेंगे पद्मश्री से सम्मानित

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक राज्य के 28 लाख 76 हजार बच्चों को डायरेक्ट बेनेफिट ट्रांसफर द्वारा राशि प्रदान की जा रही है. जिसमें प्रदेश में प्राथमिक स्कूल के 17 लाख 97 हजार और मिडिल स्कूल के 10 लाख 79 हजार बच्चों को यह राशि प्रदान की जाएगी. प्राथमिक स्कूल के बच्चों को प्रति छात्र प्रति दिवस पांच रुपये 19 पैसे और मिडिल स्कूल के बच्चों को प्रति छात्र प्रति दिवस सात रुपये 45 पैसे की दर से राशि भेजी जाएगी. बताया जा रहा है कि इससे राज्य सरकार की कुल 67 करोड़ 70 लाख रुपये खर्च

होगी.

 

अन्य खबरें