छत्तीसगढ़: दिवाली पर किसानों को 1500 करोड़ का तोहफा, गोबर बेचने वालों की हुई 10 करोड़ कमाई

Swati Gautam, Last updated: Wed, 3rd Nov 2021, 11:33 AM IST
  • मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सोमवार को राजीव गांधी किसान न्याय योजना और गोधन न्याय योजना के अंतर्गत राज्य के 21 लाख किसानों को 1510 करोड़ 81 लाख रुपए की राशि का ऑनलाइन भुगतान किया. गोबर बेचने वालों की भी धनतेरस से एक दिन पहले 10 करोड़ 81 लाख रुपये की कमाई हुई है.
छत्तीसगढ़: दिवाली पर किसानों को 1500 करोड़ का तोहफा, गोबर बेचने वालों की हुई 10 करोड़ कमाई. फाइल फोटो

रायपुर. छत्तीसगढ़ के किसानों के घरों में धनतेरस के पवन पर्व से एक दिन पहले ही मां लक्ष्मी का प्रवेश होता हुआ नजर आया. दरअसल 1 नवंबर को छत्तीसगढ़ का राज्य स्थापना दिवस था, इस अवसर पर राज्य के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अपने निवास कार्यालय में कार्यक्रम आयोजित किया. इस दौरान राजीव गांधी किसान न्याय योजना और गोधन न्याय योजना के अंतर्गत राज्य के 21 लाख किसानों को 1510 करोड़ 81 लाख रुपए की राशि का ऑनलाइन भुगतान किया. इतना ही नहीं गोबर बेचने वालों की भी धनतेरस से एक दिन पहले 10 करोड़ 81 लाख रुपये की कमाई हुई है. यानी इस मौके पर राज्य सरकार ने गोधन न्याय योजना के तहत गोबर विक्रेताओं ,गौठान समितियों एवं महिला स्व सहायता समूहों को दी जाने वाली लाभांश की राशि के 10 करोड़ 81 लाख रुपए भी दिए.

बता दें कि राजीव गांधी किसान न्याय योजना की तीसरी किस्त की राशि 1500 करोड़ रुपए थी जो सोमवार को राज्य के किसानों को दी गई. सीएम भूपेश बघेल ने कहा कि हमने राज्य के किसान भाईयों को राजीव गांधी किसान न्याय योजना की तीसरी किश्त की राशि 1500 करोड़ रुपए का भुगतान कर अपना वादा पूरा किया है. इतना ही नहीं गोधन न्याय योजना के अंतर्गत खरीदे गए गोबर की राशि, स्व-सहायता और गौठान समितियों को 10 करोड़ 21 लाख रूपए की लाभांश राशि का भुगतान भी किया है.

रायपुर: तालाब में बिना कपड़ों के नहाने को रोकने पर युवक को पीटा, हालत गंभीर

सीएम ने आगे कहा कि पिछले दो सालों को कोरोना संकट के चलते भी हमारे गांव में त्यौहारों के समय पैसे की कोई कमी नहीं आने दी. इस साल भी हमारे किसान भाई भरपूर उत्साह के साथ दीवाली मनाएंगे. सीएम बघेल ने आगे कहा कि तीन सालों में हर साल धान खरीदी का रिकार्ड टूटा है. इस साल एक करोड़ 5 लाख मेट्रिक टन धान की खरीदी की उम्मीद है. एक दिसम्बर से राज्य में धान की समर्थन मूल्य पर खरीदी शुरू हो जाएगी. मंत्रीगणों, जनप्रतिनिधियों, किसान संगठनों की मांग को देखते हुए हमने राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत किसानों की सुविधा के लिए पंजीयन की तिथि को बढ़ाकर 10 नवम्बर तक कर दिया है. सीएम ने कहा कि हमारी सरकार ने इन तीन सालों में समाज के सभी वर्गाें तक हमने न्याय पहुंचाने का काम किया है. गढ़बो नवा छत्तीसगढ़ का सपना साकार हो रहा है.

अन्य खबरें