CM बघेल ने कहा-समाज में जहर घोलने वालों पर होगी सख्त कार्रवाई,BJP पर साधा निशाना

Ruchi Sharma, Last updated: Mon, 27th Dec 2021, 3:58 PM IST
  • महात्मा गांधी को अपमानजनक बातें कहने वालों पर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भड़के हुए हैं. जिसकों लेकर उन्होंने कहा कि लेकर कहा है कि यदि कोई भी व्यक्ति समाज में जहर घोलने की कोशिश करेगा तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी. उन्होंने इसके लिए भाजपा पर भी निशाना साधा. इस दौरान उन्होंने कहा, अभी तक भाजपा के नेताओं की ओर से कोई बयान क्यों नहीं आया. भाजपा इस पर मौन क्यों है.
CM बघेल ने कहा-समाज में जहर घोलने वालों पर होगी सख्त कार्रवाई,BJP पर साधा निशाना

रायपुर. रायपुर की धर्म संसद में बापू के अपमान पर घमासान मच गया है. महात्मा गांधी को अपमानजनक बातें कहने वालों पर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भड़के हुए हैं. जिसकों लेकर उन्होंने कहा कि लेकर कहा है कि यदि कोई भी व्यक्ति समाज में जहर घोलने की कोशिश करेगा तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी. उन्होंने इसके लिए भाजपा पर भी निशाना साधा. इस दौरान उन्होंने कहा, अभी तक भाजपा के नेताओं की ओर से कोई बयान क्यों नहीं आया. भाजपा इस पर मौन क्यों है. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, यह शांति, प्रेम और भाईचारे की धरती है. गुरु घासीदास की धरती है, जहां उत्तेजक बातें, हिंसात्मक बातें बिल्कुल बर्दाश्त नहीं की जाएंगी. राष्ट्र पिता के बारे में इस तरह की बातें कहा जाना निश्चित रूप से यह दर्शाता है कि बोलने वाले की मानसिक स्थिति क्या है. इसकी जितनी निंदा की जाए कम है.

गौरतलब है कि राजधानी रायपुर के रावणभाठा मैदान में रविवार शाम को दो दिवसीय धर्म संसद के अंतिम दिन ​हिंदू धर्म गुरु कालीचरण महाराज ने अपने भाषण के दौरान राष्ट्रपिता के खिलाफ कथित तौर पर ‘‘अपमानजनक’’ टिप्पणी की थी और उनके हत्यारे नाथूराम गोडसे की ‘‘प्रशंसा’’ की थी. इस दौरान कालीचरण महाराज ने लोगों से कथित तौर पर कहा था कि धर्म की रक्षा के लिए एक कट्टर हिंदू नेता को सरकार के मुखिया के तौर पर चुनना चाहिए. धर्मगुरु के इस कथित बयान पर राज्य के सत्ताधारी दल कांग्रेस के नेताओं ने आपत्ति जतायी थी. बाद में कालीचरण के खिलाफ मामला भी दर्ज कर लिया गया.

उत्तेजना फैलाने वालों पर होगी सख्त कार्रवाई

मुख्यमंत्री बघेल ने इस मामले में विधि सम्मत कार्रवाई होगी, चाहे वह कोई भी व्यक्ति हो. बघेल ने कहा, ‘‘कोई भी व्यक्ति यदि इस तरह से बातें करेगा, समाज में उत्तेजना फैलाने की कोशिश करेगा और यदि समाज में जहर घोलने की कोशिश करेगा तब उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी.’’ उन्होंने कहा कि इस प्रकरण में प्राथमिकी दर्ज हो गई है. उन्होंने कहा कि पुलिस पूरे मामले को देख रही है और जो तथ्य सामने आएंगे उस हिसाब से कार्रवाई होगी.

 

 

 

ट्वीट करके कही ये बात

मुख्यमंत्री ने ट्वीट किया, ‘‘बापू को गाली देकर, समाज मे विष वमन करके अगर किसी पाखंडी को लगता है कि वो अपने मंसूबों में कामयाब हो जाएगा, तो उनका भ्रम है. उनके आका भी दोनों सुन लें..भारत और सनातन संस्कृति दोनों की आत्मा पर चोट करने की जो भी कोशिश करेगा... न संविधान उसे बख्शेगा, न जनता उन्हें स्वीकार करेगी.’’

कालीचरण महाराज के खिलाफ मामला दर्ज

रविवार देर शाम रायपुर शहर में धर्म संसद के दौरान कालीचरण की टिप्पणी पर कांग्रेस ने नेताओं ने नाराजगी जताई थी. कांग्रेस नेता प्रमोद दुबे की शिकायत पर शहर के टिकरापारा थाने में कालीचरण महाराज के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है.

 

संत कालीचरण ने महात्मा गांधी पर दिया विवादित बयान,कांग्रेस की शिकायत पर केस दर्ज

 

कार्यक्रम के दौरान कालीचरण ने कथित तौर पर कहा था, ‘‘इस्लाम का लक्ष्य राजनीति के जरिये राष्ट्र पर कब्जा करना है.हमारी आंखों के सामने उन्होंने 1947 में कब्जा कर लिया था...उन्होंने पहले ईरान, इराक और अफगानिस्तान पर कब्जा कर लिया था. उन्होंने राजनीति के द्वारा बांग्लादेश और पाकिस्तान पर कब्जा किया...मैं नाथूराम गोडसे को नमस्कार करता हूं कि उन्होंने गांधी की हत्या की.’’

इन धाराओं पर दर्ज हुआ मामला

रायपुर जिले के पुलिस अधिकारियों ने बताया कि कालीचरण महाराज के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 505 (2) (विभिन्न वर्गों के बीच शत्रुता, घृणा या द्वेष पैदा करने या बढ़ावा देने वाले बयान) तथा 294 (अश्लील कृत्य) के तहत मामला दर्ज किया गया है.

अन्य खबरें