छत्तीसगढ़ में भूपेश सरकार का नया प्लान, गाय के गोबर की बिजली से जगमग होंगे गौठान

Ankul Kaushik, Last updated: Sun, 3rd Oct 2021, 11:51 PM IST
  • छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने एक नया प्लान तैयार किया है. कांग्रेस सरकार के इस प्लान से राज्य के गौठान गोबर की बिजली से जगमगाएंगे. सीएम भूपेश बघेल ने गौठानों में गोबर से बिजली उत्पादन की परियोजना का शुभारंभ 2 अक्टूबर गांधी जयंती के मौके पर किया.
छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल. फोटो क्रेडिट (भूपेश बघेल ट्विटर)

रायपुर. छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शनिवार 2 अक्टूबर को गांधी जयंती के मौके पर बेमेतरा जिला मुख्यालय के बेसिक स्कूल ग्राउंड में आयोजित किसान सम्मेलन के दौरान छत्तीसगढ़ के गौठानों में गोबर से बिजली उत्पादन की परियोजना का वर्चुअल शुभारंभ किया. छत्तीसगढ़ में सुराजी गांव योजना के तहत करीब 6 हजार गांवों में गौठानों का निर्माण हुआ है. जो रूरल इंडस्ट्रियल पार्क के रूप में विकसित हुए हैं और यहां पर गोधन न्याय योजना के तहत दो रुपये किलो में गोबर की खरीदी की जाएगी. इसके बाद बड़े पैमाने पर जैविक खाद का उत्पादन किया जाएगा.

इस कार्यक्रम में सीएम बघेल ने कहा कि यह कार्यक्रम महिलाओं और युवाओं को अवसर देगा और महात्मा गांधी के 'ग्राम स्वराज' के सपने को साकार करने की दिशा में भी एक कदम होगा. इसके साथ ही सीएम बघेल ने कहा- छत्तीसगढ़ सरकार राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी के ग्राम स्वराज की परिकल्पना को साकार करते हुए गांवों को स्वावलंबी बनाने में जुटी है. अब छत्तीसगढ़ के गांव गोबर से विद्युत उत्पादन के मामले में स्वावलंबी होंगे. इसके साथ ही सीएम ने कहा एक समय था जब विद्युत उत्पादन का काम सरकार और बड़े उद्योगपति किया करते थे. अब हमारे राज्य में गांव के ग्रामीण टेटकू, बैशाखू, सुखमती, सुकवारा भी बिजली बनाएंगे और बेचेंगे.

भूपेश बघेल के कका जिंदा है के जवाब में टीएस सिंहदेव बोले- CM बदलने पर फैसला जल्द

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के 10 हजार गांवों में गौठानों का निर्माण किया जा रहा है. हर गौठान में 5 से 10 एकड़ भूमि आरक्षित की गई है जिसमें पशुओं के लिए चारागाह, पानी और छाया की व्यवस्था है. अब गौठान समितियों का अपना पावर प्लांट होगा और इसके साथ ही गौठानों में नीम, करंज, चरौटा, तिलहन फसलों के तेल पेराई की भी व्यवस्था की जाएगी.

 

अन्य खबरें