कांग्रेस नेता बोले- BJP कर रही लोगों को भ्रमित, गरीब कल्याण योजना में घोटाले का आरोप झूठा

Prachi Tandon, Last updated: Tue, 5th Oct 2021, 5:54 PM IST
  • छत्तीसगढ़ कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने घोटाले के आरोपों का जवाब देते हुए कहा कि भाजपा लोगों को भ्रमित करने का काम कर रही है. गरीब कल्याण योजना में घोटाले के बीजेपी के आरोप झूठे और काल्पनिक हैं.
छत्तीसगढ़ कांग्रेस नेता बोले- भाजपा के आरोप झूठे(फोटो सोर्स-ट्वीटर)

रायपुर. कांग्रेस ने भाजपा के प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना में घोटाले के आरोपों को झूठा और काल्पनिक बताया है. छत्तीसगढ़ कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने मंगलवार को कहा कि भारतीय जनता पार्टी गलत बयानबाजी कर रही है. वह ऐसा करके चर्चा में बने रहने की कोशिश में जुटी है. कांग्रेस नेता सुशील आनंद ने इसी के साथ कहा कि पीएम मोदी के 5 किलो मुफ्त चावल देने की घोषणा से पहले ही सीएम भूपेश बघेल ने गरीबों को मुफ्त 35 किलो चावल देना शुरू कर दिया था. 

कांग्रेस नेता सुशील आनंद ने इसी के साथ कहा कि केंद्र सरकार द्वारा छत्तीसगढ़ को केवल 51.20 लाख अन्त्योदय एवं प्राथमिकता वाले राशनकार्डधारकों के लिए गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत मुफ्त चावल दिया गया था. वहीं छत्तीसगढ़ की भूपेश बघेल सरकार ने 58.91 लाख परिवारों को मुफ्त चावल नवंबर 2021 तक वितरण करने का फैसला किया है. कांग्रेस नेता ने कहा इससे साफ होता है कि केंद्र से ज्यादा राशन छत्तीसगढ़ सरकार राज्य के गरीबों को दे रही है. 

लखीमपुर खीरी: छत्तीसगढ़ CM भूपेश बघेल की UP में नो एंट्री, लखनऊ एयरपोर्ट से ही वापस

कांग्रेस नेता ने कहा कि बीजेपी सिर्फ भ्रमित करने का काम कर रही है और एक तरफा आरोप लगा रही है. भाजपा दिगभ्रमित करते हुए कह रही है कि चावल का वितरण नहीं किया जा रहा है. कांग्रेस नेता ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि भाजपाई जान लें छत्तीसगढ़ में गरीबों की हितैषी कांग्रेस सरकार है. अब गरीबों के राशन में डकैती और घोटालों का दौर समाप्त हो गया है. 

लखीमपुर खीरी मामले में पूर्व सीएम का कांग्रेस पर निशाना, घटना बेहद दुखद, लेकिन लाशों पर राजनीति सही नहीं

भाजपा ने राज्य की कांग्रेस सरकार पर 1500 करोड़ के चावल घोटाला करने का आरोप लगाया था. भाजपा नेता ने आरोप लगाते हुए कहा था कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत राज्य सरकार को हर महीने 1.385 लाख मैट्रिक टन चावल की सप्लाई हुई लेकिन सरकार ने सिर्फ 4 या उससे अधिक सदस्यों वाले परिवार को ही चावल दिया. बाकी लोगों को नहीं. जबकि गाइडलाइन के हिसाब से परिवार में जितने भी सदस्य हों सभी को 5 किलो चावल देना था. भाजपा नेता ने आरोप लगाते हुए छत्तीसगढ़ सरकार पर सवाल उठाए थे. 

अन्य खबरें