छत्तीसगढ़ः शिक्षा विभाग में 'कमीशनखोरी' के खिलाफ 7 हजार प्राइवेट स्कूलों की हड़ताल, 16 लाख छात्र प्रभावित

Sumit Rajak, Last updated: Mon, 25th Oct 2021, 6:41 PM IST
  • छत्तीसगढ़ में शिक्षा विभाग में कथित कमीशनखोरी के खिलाफ प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन ने एक दिन के लिए स्कूल बंद करने का ऐलान किया है. इस घोषणा के साथ हीं प्रदेश के 7000 से अधिक निजी स्कूलों में ताले लटक गए. इसको लेकर प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन ने सोमवार को प्रदेश स्तर पर हड़ताल और धरना-प्रदर्शन की रणनीति बनाई है.
प्रतीकात्मक फोटो

रायपुरःछत्तीसगढ़ में शिक्षा विभाग में कथित कमीशनखोरी के खिलाफ प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन ने एक दिन के लिए स्कूल बंद करने का ऐलान किया है. इस घोषणा के साथ छत्तीसगढ़ के 7000 से अधिक प्राइवेट स्कूलों में ताले लग गए. इसको लेकर प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन ने सोमवार को प्रदेश स्तर पर हड़ताल और धरना-प्रदर्शन की रणनीति बनाई है. रायपुर के बूढ़ा तालाब के पास धरना स्थल पर इक्कठा होकर स्कूल एसोसिएशन के लोग सरकार के प्रति सोमवार को अपनी नाराजगी जाहिर करेंगे. इस निर्णय से निजी स्कूलों में पढ़ने वाले 16 लाख  के ज्यादा बच्चों की पढ़ाई प्रभावित होगी.

प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन के अध्यक्ष राजीव गुप्ता ने कहा कि कोरोना के कारण उपजे हालात से स्कूल का संचालन करना मुश्किल हो गया है. शिक्षा विभाग ने इस मुश्किल वक्त में साथ देने के बजाएं कठिनाइ खड़ी कर रही है. प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन के संचालकों की मांग है कि 2020 से 2021 तक के शिक्षा का अधिकार की प्रतिपूर्ति राशि 106 करोड़ रुपए निजी स्कूलों को अविलंब प्रदान किया जाए. उन्होंने बताया कि शिक्षा विभाग के अधिकारी आरटीई की राशि प्रदान करने के लिए कमीशन मांगते है. स्कूल बसों का संचालन 16 माह तक बंद रहा.  प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन के संचालन ने कहा कि अप्रैल 2020 से जुलाई 2021 तक प्रदेश की सभी स्कूल बसों का रोड टैक्स माफ किया जाए. साथ हीं  प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन नवीन मान्यता, मान्यता नवीनीकरण पर स्कूल शिक्षा विभाग अड़ियल रवैया के खिलाफ आक्रोशित है.

खुशखबरी! रायपुर से शुरू होंगी 5 नई फ्लाइट्स, लखनऊ समेत इन 6 शहरों का सफर होगा आसान

प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन ने बताया कि पूरे प्रदेश में मान्यता की प्रक्रिया 2 से 3 वर्ष देरी से चल रही है. कोविड के दौरान  प्रदेश के सभी अशासकीय विद्यालयों का स्कूल शिक्षा विभाग ने निरीक्षण किया था. उन्होनें कहा कि अलग-अलग जिलों में कमियां बता कर प्राइवेट स्कूल संचालकों को परेशान किया जा रहा है.प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन के अध्यक्ष राजीव गुप्ता ने कहा कि अगर सरकार उनकी मांगों को नहीं मानती है तो चरणबद्ध  तरिके से आंदोलन किया जाएगा.

अन्य खबरें