बघेल सरकार जल्द लगा सकती कई पुरानी योजनाओं पर रोक, ये है वजह

Shubham Bajpai, Last updated: Wed, 3rd Nov 2021, 4:43 PM IST
  • छत्तीसगढ़ सरकार आगामी वित्तीय वर्ष में कई पुरानी योजनाओं को बंद कर सकती है. इसको लेकर विभाग को प्रस्ताव तैयार करने को कहा गया है. प्रदेश की बघेल सरकार इस बजट में ऐसी योजनाएं बंद कर सकती है जो अनुपयोगी होने के साथ अधिक खर्च वाली हैं. इनकी जगह सरकार नई योजनाएं शुरू कर सकती है.
प्रदेश सरकार जल्द लगा सकती कई पुरानी योजनाओं पर रोक, ये है वजह

रायपुर. छत्तीसगढ़ सरकार ने वित्तीय वर्ष 2022-23 के लिए बजट तैयार करने की तैयारी अभी से शुरू कर दी है. इस बार सरकार बजट में कई नई घोषणाओं का ऐलान कर सकती है क्योंकि आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए बघेल सरकार अभी से तैयारी कर रही है. वहीं, सरकार कई योजनाओं को बंद करने की तैयारी भी कर रही है. इसको लेकर सरकार ने विभिन्न विभाग के अधिकारियों को आदेश दे दिए हैं कि वो ऐसी योजनाओं के संबंध में प्रस्ताव तैयार कर लें जो अधिक खर्च के साथ अनुपयोगी हैं.

दिवाली के बाद से शुरू हो जाएगी विभागों की बैठक

योजनाओं की लिस्ट तैयार करने की बैठक सभी विभाग दिवाली के बाद शुरू कर देंगे, 15 नवंबर से शुरू होने वाली ये बैठक 27 नवंबर तक चलेगी. सरकार ने इसके लिए वित्त विभाग के साथ सभी विभागों के अपर मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव, सचिव और विशेष सचिवों को निर्देश जारी कर दिए हैं.

छत्तीसगढ़: दिवाली पर किसानों को 1500 करोड़ का तोहफा, गोबर बेचने वालों की हुई 10 करोड़ कमाई

नए बजट में नई योजनाओं के साथ भर्तियों को मंजूरी

इस बजट में बघेल सरकार विशेषकर युवाओं को लुभाने का प्रयास कर रही है. इसलिए बजट में नई योजनाओं के साथ कई भर्तियों को भी मंजूरी मिल सकती है. इस संबंध में खुद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने निर्देश दिए हैं कि अधिकारी नई पदों पर भर्ती समेत अन्य मुद्दों को बजट में शामिल करें. वहीं, इस बार का बजट 1 लाख 10 हजार करोड़ रुपये के करीब होने की संभावना है. जानकाीर अनुसार पिछले बजट से इस बार सिर्फ 5 फीसदी तक की वृद्धि की जा सकती है.

आधार कार्ड में नाम, पता कैसे कई बार करवा सकते हैं ठीक, जानें प्रोसेस

पुरानी पर खर्च की जगह नई योजनाओं को मिलेगी प्राथमिकता

जानकारी अनुसार, चुनाव से पहले का बजट होने की वजह से वित्त विभाग खुद पुरानी योजनाओं पर खर्च करने की बजाय नई योजनाओं को प्राथमिकता देने पर विचार कर रहा है.साथ ही विभाग ऐसी योजनाओं को भी बंद कर सकता है जो केंद्र सरकार के समकक्ष हो. जिससे उसमें लगनी वाली राशि को नई योजनाओं पर उपयोग किया जा सके.

 

अन्य खबरें