शर्मनाक! दिव्यांग केंद्र के 2 कर्मचारियों ने बच्चों के कपड़े फाड़े, नाली में पटका, 15 साल की बच्ची से रेप

Prachi Tandon, Last updated: Sun, 26th Sep 2021, 9:47 AM IST
  • छत्तीसगढ़ के जशपुर में दिव्यांग केंद्र के दो कर्मचारियों ने नशे की हालत में बच्चों के साथ गंदी हरकतें और मारपीट की हैं. नशे में धुत्त केयर टेकर और चौकीदार ने कई बच्चों के कपड़े फाड़े और कई को नाली में पटक दिया. 15 साल की बच्ची से रेप भी किया गया.
छत्तीसगढ़ के एक दिव्यांग केंद्र के दो कर्मचारियों ने नशे में धुत्त होकर कई बच्चों के साथ मारपीट और गंदी हरकतें की.(सांकेतिक फोटो)

रायपुर. छत्तीसगढ़ के जशपुर में दिव्यांग केंद्र से शर्मसार कर देने वाला सामने आया है. दिव्यांग केंद्र में बच्चों के साथ मारपीट और बच्चियों का यौन उत्पीड़न किया गया. एक 15 साल की बच्ची का बलात्कार भी करने का मामला सामने आया है. दिव्यांग केंद्र के चौकीदार और केयर टेकर ने नशे की हालत में बच्चों को पीटा और गंदी हरकतें की हैं. नशे की हालत में केंद्र के कर्मचारियों ने बच्चों के कपड़ भी फाड़े हैं. कई बच्चों को उठाकर नाली में भी पटक दिया. यह घटना 22 सितंबर की रात की बताई गई है.

राजीव गांधी शिक्षा मिशन की तरफ से खनिज न्यास मद के तहत जशपुर के दिव्यांग केंद्र का संचालन किया जाता है. इस केंद्र के हॉस्टल अधीक्षक 22 सितंबर की रात मौजूद नहीं थी. ऐसे में बच्चों की जिम्मेदारी केयर टेकर राजेश राम और चौकीदार नरेंद्र भगत के पास थी. हॉस्टल में 22 लड़के और 12 बच्चियां रहती हैं. यह बच्चे बोल और सुन नहीं सकते हैं. इसी का फायदा उठाकर केयर टेकर और चौकीदार नशे में धुत्त 22 सितंबर की रात हॉस्टल में घुस गए और सोते बच्चों को उठा दिया. कई बच्चियों के साथ अश्लील हरकतें की गई उनके कपड़े फाड़े गए. बच्चों को उठाकर हॉस्टल की नाली में फेंक दिया. अपने को बचाने के लिए नग्न हालत में बच्चे इधर से उधर दौड़ने लगे. एक 15 साल की बच्ची का रेप भी किया गया है. 

भूपेश बघेल के कका जिंदा है के जवाब में टीएस सिंहदेव बोले- CM बदलने पर फैसला जल्द

दिव्यांग केंद्र की घटना के बारे में तब जानकारी तब सामने आई जब बच्चों के माता-पिता उनसे मिलने के लिए पहुंचे. बताया जा रहा है कि हॉस्टल की महिला सफाई कर्मी ने बच्चों को बचाने की मदद की तो केयर टेकर और चौकीदार ने उन्हें बॉथरूम में बंद कर दिया. वह किसी तरह बाहर निकली और हॉस्टल अधीक्षक को फोन करके जानकारी दी. जिसके बाद अधीक्षक केंद्र पहुंच गए. 

हैवान पिता ने 13 साल की मासूम बेटी को बनाया हवस का शिकार, दो साल तक किया रेप, गिरफ्तार

बच्चों के साथ क्या हुआ यह जानने के लिए साइन लैंग्वेज के शिक्षकों को रात को ही बुलाया गया था. केयर टेकर और चौकीदार की घिनौनी हरकत का सामने आने पर दोनों को काम से निकाल दिया गया. ऐसी शिकायत मिली है कि मामले को दबाने का प्रयास भी किया गया था.  महिला आयोग ने मामले पर संज्ञान लिया है जिसके बाद अधीक्षक को भी निलंबित किया गया है.

अन्य खबरें