छत्तीसगढ़ में दिवाली, छठ पर 2 घंटे तक फोड़ सकेंगे पटाखे, ऑनलाइन बिक्री पर भी रोक

Swati Gautam, Last updated: Wed, 27th Oct 2021, 2:04 PM IST
  • छत्तीसगढ़ के राज्य प्रशासन ने त्योहारों को लेकर गाइडलाइंस जारी की हैं. राज्य के लोग निर्धारित किए गए 2 घंटे के समय तक पटाखे फोड़ पाएंगे. दिवाली पर रात 8 बजे से 10 बजे तक, छठ पूजा पर सुबह 6 बजे से 8 बजे तक पटाखे फोड़े जायेंगे. वहीं ऑनलाइन प्लेटफार्म पर पटाखों के बिक्री पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया है.
छत्तीसगढ़ में दिवाली, छठ पर 2 घंटे तक फोड़ सकेंगे पटाखे, ऑनलाइन बिक्री पर भी रोक (फाइल फोटो)

रायपुर. भारत में लगातार कई त्योहार आने वाले है ऐसे में लोग पटाखे जलाकर सेलिब्रेशन करते हैं. इसे मद्देनजर रखते हुए छत्तीसगढ़ के राज्य प्रशासन ने त्योहारों को लेकर कुछ गाइडलाइंस जारी की हैं. बता दें कि वायु प्रदूषण को मद्देनजर रखते हुए राज्य में पटाखों की बिक्री पर बैन रहेगा. इतना ही नहीं राज्य प्रशासन ने ऑनलाइन प्लेटफार्म पर पटाखों के बिक्री पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया है लेकिन निराश न हो. आम जनता की त्योहारों के प्रति खुशी को देखते हुए छत्तीसगढ़ में पटाखे फोड़ने का समय निर्धारित कर दिया गया है. आदेश के मुताबिक दिवाली, छठ, गुरु पर्व पर दो घंटे ही पटाखे फोड़े जा सकेंगे.

राज्य शासन ने नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल द्वारा जारी आदेश का कड़ाई से पालन करने के निर्देश अफसरों को दिए हैं. आदेश में दिए गए समय पर पटाखे फोड़ने की इजाजत होगी. बता दें कि आदेश के मुताबिक राज्य में दिवाली पर रात 8 बजे से 10 बजे तक पटाखे फोड़ने की अनुमति होगी. ऐसे ही छठ पूजा पर सुबह 6 बजे से 8 बजे तक पटाखे फोड़े जायेंगे. गुरु पर्व पर रात 8 बजे से 10 बजे तक और नए साल अथवा क्रिसमस पर रात 11.55 बजे से 12.30 बजे तक पटाखे फोड़ने का समय निर्धारित किया गया है.

छत्तीसगढ़ के लोगों की अजीब मांग! कांकेर जिले से इस जिले में करो शिफ्ट, राज्यपाल से मिले

अपर मुख्य सचिव व पर्यावरण विभाग द्वारा प्रदेश के सभी कलेक्टरों को प्रदूषण रोकने संबंधी आदेश जारी किया गया है.मालूम हो कि पटाखों में इस्तेमाल होने वाले गंधक, पोटाश व अन्य गोला-बारुद से पर्यावरण पर प्रतिकूल प्रभाव पढ़ता है. हवा में प्रदूषण बढ़ने से सांस व अन्य गंभीर बीमारियों से ग्रस्त मरीजों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है. वायु प्रदूषण को ठीक करने और मरीजों को ध्यान में रखते हुए ही पटाखों के इस्तेमाल पर रोक लगाई जाती है.

अन्य खबरें