अब छत्तीसगढ़ का ये रेलवे स्टेशन होगा प्राइवेट, 600 करोड़ साल का किराया

Shubham Bajpai, Last updated: Sun, 14th Nov 2021, 7:47 PM IST
  • छत्तीसगढ़ का रायपुर स्टेशन जल्द ही प्राइवेट होने जा रहा है. इसको लेकर भारतीय रेलवे ने घोषणा कर दी है. देश में 400 स्टेशनों को प्राइवेट किए जाने की लिस्ट में ये भी शामिल है. इसके लिए उद्यमियों से ऑनलाइन आवेदन मांगे गए हैं. जानकारी अनुसार, एक साल का सौदा 600 करोड़ में होगा.
अब छत्तीसगढ़ का ये रेलवे स्टेशन होगा प्राइवेट, सालभर का होगा 600 करोड़

रायपुर. देश में रेलवे लगातार कई स्टेशनों को प्राइवेट करने की तैयारी कर रहा है. इन स्टेशनों में छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर का स्टेशन भी शामिल है. जो जल्द ही प्राइवेट हाथों में चला जाएगा. इसको लेकर रेलवे ने ऑनलाइन प्रक्रिया शुरू कर दी है. हालांकि कई उद्यमी सीधे रेल मंडल कार्यालय पहुंच रहे हैं. सभी प्रकिया पूरी होने के बाद रेलवे के फैसले के बाद चयनित उद्यमी को स्टेशन मिल जाएगा.

रेलवे बोर्ड की सूची में ए वन श्रेणी में शामिल स्टेशन

रेलवे बोर्ड ने करीब 400 स्टेशनों को सिलेक्ट किया है, जिसमें रायपुर रेलवे स्टेशन भी शामिल है. इस स्टेशन को रेलवे ने ए वन श्रेणी में रखा है. इस स्टेशन को लेकर रेलवे पहले से एयरपोर्ट की तर्ज में तैयार करने में लगा हुआ था. जिसके बाद अब प्राइवेट होने के बाद इसका आगे का काम किया जाएगा.

मारा गया पढ़ा-लिखा 50 लाख का इनामी मिलिंद तेलतुम्‍बडे, अब तक 26 नक्सली ढेर, 3 जवान भी घायल

रेल डिवीजन का खत्म हो जाएगा पूरा दखल

स्टेशन प्राइवेट होने के बाद इस पर रेलवे डिवीजन का दखल पूरी तरह खत्म हो जाएगा. इसके बाद पार्सल, टिकट बुकिंग काउंटर, खानपान स्टॉल, कैंटीन, वेटिंग हाल, मल्टी फंक्शनल कांप्लेक्स सब कुछ प्राइवेट कंपनियों के अनुसार चलेगा.

राजस्व के मामले में रायपुर काफी आगे

अभी रायपुर में राजस्व सालाना500 से लेकर 550 करोड़ रुपये तक आ रहा है. जो लगातार बढ़ा है. स्थिति ये है कि रेलवे में बिलासपुर जोन जिसमें रायपुर स्टेशन आता है कभी घाटे में नहीं रहा है और राजस्व के मामले में ये 6वें स्थान पर है.

कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद की किताब पर बवाल, BJP ने कहा- हिंदुओं की तुलना आतंकी

जानकारी अनुसार, रेलवे के इस प्राइवेट होने का सबसे ज्यादा असर आमजन की जेब पर पड़ेगा. क्योंकि प्राइवेट होने के बाद सभी के सुविधा शुल्क से लेकर खाने पीने की चीजों सभी के दाम प्राइवेट कंपनियां अपने अनुसार तय करेगी. इस पर रेलवे का कोई दखल न होगा.

 

अन्य खबरें