Raipur fraud: फर्जी बैंक खाता खुलवाकर लिए चेक, निकाले मुआवजे के 33 लाख रुपये

Sumit Rajak, Last updated: Mon, 8th Nov 2021, 12:26 PM IST
  • रायपुर में फर्जी दस्तावेज तैयार कर लाखों रुपये की ठगी का मामला सामने आया है. आरोपी ने मुआवजे के करीब 33 लाख रुपये का पचा लिया. प्रार्थी मनोहर सुराना ने इस मामले को लेकर माना थाने में ने रिपोर्टर दर्ज करवाई.आरोपियों ने मनोहर के नाम से सारे फर्जी दस्तावेज तैयार किए. इसके बाद खुद के द्वारा खुलवाए गए खाते में चेक लगाकर पैसे निकाल लिए.
प्रतीकात्मक फोटो

 रायपुर.राजधानी रायपुर में फर्जी दस्तावेज तैयार कर लाखों रुपये की ठगी का मामला सामने आया है. आरोपी  ने मुआवजे के  करीब 33 लाख रुपये का पचा लिया. माना थाना पुलिस ने धोखाधड़ी, आइटी एक्ट सहित अन्य गभीर धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया है.  पुलिस ने नरेश कुंजाम, श्रेयांस सुराना,  विक्रम तलरेजा और डिंपल साहू के खिलाफ प्रथामिक दर्ज किया.

प्रार्थी मनोहर सुराना ने इस मामले को लेकर  माना थाने में  ने रिपोर्टर दर्ज करवाई. प्रार्थी ने पुलिस को कहा कि श्रेयांस सुराना द्वारा विक्रम तलरेजा के साथ मिलकर नरेश कुंजाम को मनोहर सुराना बनाया.उन्होंने कहा कि मनोहर सुराना के आधार कार्ड, वोटर आइडी, ड्राइविंग लाइसेंस में नरेश कुंजाम का फोटो लगा कर सेंट्रल बैंक आफ इंडिया शाखा टेमरी में बैंक खाता खोला गया. मनोहर सुराना का फर्जी खाता खुलवाया. साथ ही नेशनल हाइवे अथारिटी आफ इंडिया का चेक प्राप्त कर सेंट्रल बैंक आफ इंडिया शाखा टेमरी माना के जमा किया और उसमें से  33 लाख रुपये निकाल लिए गए.

पोस्ट ऑफिस की लाभकारी योजना, रोजाना 100 रुपए निवेश कर 5 साल बाद पाए 20 लाख

प्रार्थी मनोहर सुराना ने कहा कि तेलीबांधा के पास जमीन की मुआवजा राशि 33,01,650 रुपये चेक से आनी थी. लेकिन इसकी जानकारी मनोहर को नहीं थी. बैंक खाते से टीडीएस कटने पर तब पता चला कि प्रार्थी के नाम का चेक आया था. नरेश कुमार कुंजाम द्वारा फर्जी तरीके से चेक प्राप्त कर  लिया. ग्राम टेमरी सेंट्रल बैंक आफ इंडिया में मनोहर के नाम का खाता खोलकर खुद हस्ताक्षर कर करीब 33 लाख निकाल ली गई.आरोपियों को पहले से पता था कि मनोहर के नाम से पैसे आने वाले हैं. उसके  द्वारा फर्जी खाता खुलवा लिया गया.

आरोपियों  ने मनोहर के नाम से सारे फर्जी दस्तावेज तैयार किए. इसके बाद नेशनल हाइवे अथारिटी आफ इंडिया  के कार्यलय  में फर्जी दस्तावेज दिखाकर चेक ले लिया. जिसके बाद खुद के द्वारा खुलवाए गए खाते में चेक लगाकर पैसे निकाल लिए.

अन्य खबरें