रायपुर के नवकार ज्वेलर्स चोरी मामले में चौंकाने वाले सच सामने आए, सुनकर हो जाएंगे हैरान

Anurag Gupta1, Last updated: Sat, 16th Oct 2021, 1:56 PM IST
  • रायपुर में नवकार ज्वेलर्स में 11 चोरों ने मिलकर चोरी की थी. गिरोह के दो मास्टरमाइडों ने दो महीने तक दुकान की रेकी की थी. मामले में लीपापोती के आरोप में चौकी प्रभारी सहित चार सिपाही सस्पेंड.
चोरी के बाद बिखरी पड़ी ज्वेलरी शॉप (फाइल फोटो)

रायपुर. रायपुर के गुढि़यारी थानाक्षेत्र में नवकार ज्वेलर्स में 80 लाख की चोरी के मामले में चौंकाने वाले सच सामने आ रहे हैं. नवकार ज्वेलर्स में चोरी की घटना को अंजाम 11 चोरों ने मिलकर दिया था. गिरोह के दो मास्टरमांइड ने लगभग दो महीने तक दुकान की अच्छी तरीके से रेकी की थी. नौ चोर झारखंड से आए थे. ये खुलासा चार चोरों के पकड़े जाने के बाद हुआ.

चोरी के बाद झारखंड पुलिस ने चार चोरों को पकड़ा था जिसमें से सिर्फ दो की जानकारी दी थी. ये बात रायपुर पुलिस की हाइटेक जांच में सामने आई. ये बात आला अफसरों तक पहुंची तो तत्काल कार्रवाई करते हुए चौकी प्रभारी सहित चार सिपाहियों को सस्पेंड कर दिया गया. अब बरामद किए गए माल में भी गड़बड़ लग रही है. रायपुर पुलिस ने केवल 38 किलो चांदी का बरामदगी दिखाई है. पकड़े गए दो अन्य चोरों को भी प्रोटक्शन वारंट में दिल्ली लाएंगे.

छत्तीसगढ़ के रायपुर स्टेशन पर ट्रेन में ब्लास्ट, CRPF के 6 जवान घायल

दो महीने से कर रहे थे रेकी:

चोर दो महीने पहले इस क्षेत्र में आए थे. जिसके बाद लगातार वो ज्वलर्स की दुकान की रेकी कर रहे थे. रेकी करने के बाद साहेबगंज अपने बाकी साथियों को संपर्क किया. चोरी किए हुए सोने के जेवर का आधा-आधा बंटवारा किया. पकड़े गए चोरों को पुलिस झारखंड से रायपुर लेकर आई. चोरों ने बताया कि भागने के दौरान सभी चोर एक गाड़ी में बैठे थे. जिसमें से चार बांसझोर चौकी में पकड़े गए. बाकी फरार हो गए. मास्टर माइंड जिन्होंने पूरी योजना बनाई वो तीन दिन पहले से रायपुर में थे.

चौकी इंचार्ज ने जनकारी दी:

चौकी ने दो आरोपितों के पकड़े जाने की जानकारी छह तारीख को बताई थी. वहीं जब रायपुर की साइबर सेल की टीम ने विशेष तकनीक की मदद से जांच की तो दो और आरोपितों की जानकारी वहां पकड़े जाने की मिली। इसके बाद बांसझोर पुलिस ने दो और आरोपितों के पकड़े जाने की बात 10 तारीख को बताई. साथ ही बताया कि चोरी की वारदात में शामिल दो आरोपितों को रायपुर लाने की तैयारी की जा रही. पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार जब बांसझोर चौकी में पकड़े गए चोरों के बारे में उच्च अधिकारियों को सूचित किया गया.

रायपुर. रायपुर के गुढि़यारी थानाक्षेत्र में नवकार ज्वेलर्स में 80 लाख की चोरी के मामले में चौंकाने वाले सच सामने आ रहे हैं. नवकार ज्वेलर्स में चोरी की घटना को अंजाम 11 चोरों ने मिलकर दिया था. गिरोह के दो मास्टरमांइड ने लगभग दो महीने तक दुकान की अच्छी तरीके से रेकी की थी. नौ चोर झारखंड से आए थे. ये खुलासा चार चोरों के पकड़े जाने के बाद हुआ.

चोरी के बाद झारखंड पुलिस ने चार चोरों को पकड़ा था जिसमें से सिर्फ दो की जानकारी दी थी. ये बात रायपुर पुलिस की हाइटेक जांच में सामने आई. ये बात आला अफसरों तक पहुंची तो तत्काल कार्रवाई करते हुए चौकी प्रभारी सहित चार सिपाहियों को सस्पेंड कर दिया गया. अब बरामद किए गए माल में भी गड़बड़ लग रही है. रायपुर पुलिस ने केवल 38 किलो चांदी का बरामदगी दिखाई है. पकड़े गए दो अन्य चोरों को भी प्रोटक्शन वारंट में दिल्ली लाएंगे.

छत्तीसगढ़ के रायपुर स्टेशन पर ट्रेन में ब्लास्ट, CRPF के 6 जवान घायल

दो महीने से कर रहे थे रेकी:

चोर दो महीने पहले इस क्षेत्र में आए थे. जिसके बाद लगातार वो ज्वलर्स की दुकान की रेकी कर रहे थे. रेकी करने के बाद साहेबगंज अपने बाकी साथियों को संपर्क किया. चोरी किए हुए सोने के जेवर का आधा-आधा बंटवारा किया. पकड़े गए चोरों को पुलिस झारखंड से रायपुर लेकर आई. चोरों ने बताया कि भागने के दौरान सभी चोर एक गाड़ी में बैठे थे. जिसमें से चार बांसझोर चौकी में पकड़े गए. बाकी फरार हो गए. मास्टर माइंड जिन्होंने पूरी योजना बनाई वो तीन दिन पहले से रायपुर में थे.

चौकी इंचार्ज ने जनकारी दी:

चौकी ने दो आरोपितों के पकड़े जाने की जानकारी छह तारीख को बताई थी. वहीं जब रायपुर की साइबर सेल की टीम ने विशेष तकनीक की मदद से जांच की तो दो और आरोपितों की जानकारी वहां पकड़े जाने की मिली। इसके बाद बांसझोर पुलिस ने दो और आरोपितों के पकड़े जाने की बात 10 तारीख को बताई. साथ ही बताया कि चोरी की वारदात में शामिल दो आरोपितों को रायपुर लाने की तैयारी की जा रही. पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार जब बांसझोर चौकी में पकड़े गए चोरों के बारे में उच्च अधिकारियों को सूचित किया गया.

|#+|

 

अन्य खबरें