सिम्स प्रशासन की लापरवाही से भर्ती गरीब मरीजों को ठंड में नहीं मिल रहा कंबल

ABHINAV AZAD, Last updated: Mon, 8th Nov 2021, 9:09 AM IST
  • सिम्स प्रशासन भर्ती गरीब मरीजों को कंबल उपलब्ध नहीं करवा पा रहा है. बताया जा रहा है कि पिछले साल के संक्रमित कंबल अब तक धुले नहीं हैं.
सिम्स में भर्ती गरीब मरीजों को ठंड में कंबल नहीं मिल पा रहा है. (प्रतीकात्मक फोटो)

रायपुर. सिम्स प्रशासन की लापरवाही का खामियाजा भर्ती मरीज को भुगतना पड़ रहा है. दरअसल, ठंड ने दस्तक दे दी है. सिम्स में भर्ती ज्यादातर मरीज तो अपना ही कंबल का उपयोग कर रहे हैं. लेकिन ऐसे गरीब मरीजों की तादाद बहुत ज्यादा है जिनके पास अपना कंबल तक नहीं है. ऐसे में जब ये गरीब मरीज स्टाफ से कंबल मांग रहे हैं तो नहीं दिया जा रहा है. इसमें दिक्कत यह है कि पिछले साल के संक्रमित कंबल अब तक धुले नहीं हैं.

मिली जानकारी के मुताबिक, पिछले साल के संक्रमित कंबल अब तक धुले नहीं हैं. हालात इतने बदतर हैं कि सेंट्रल लांड्री भी बंद पड़ी है. ऐसे में एक साथ सात सौ से ज्यादा कंबल धुलवाने में सिम्स प्रबंधन के पसीने छूट रहे हैं. सिम्स प्रबंधन की इस लापरवाही का खामियाजा भर्ती मरीजों को भुगतना पड़ रहा है. यह विडंबना है कि ठंड बढ़ने के बाद भी संभाग के सबसे बड़े अस्पताल सिम्स के मरीजों के लिए कंबल की व्यवस्था नहीं की जा सकी है.

छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल का बड़ा फैसला, 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा में नहीं जुड़ेंगे असाइनमेंट के नंबर

बताया जा रहा है कि इस समस्या की बड़ी वजह सिम्स की सेंट्रल लांड्री होना है. ऐसे में कपड़ों को धोने वाले कर्मचारियों को हाथ से कपड़ा धोना पड़ता है. रोजाना कम से कम 100 से ज्यादा चादर के साथ ही टेबल क्लाथ, एप्रान आदि भी धोना रहता है. ऐसे में अब इन्हें 700 से ज्यादा कंबल भी धोने हैं, जो आसान काम नहीं है और कर्मचारी इन कंबलों को धोने से कतरा रहे हैं. वहीं समय पर कंबल धुल नहीं पाने से इसका खामियाजा वार्डों में भर्ती गरीब मरीजों को सहना पड़ रहा है.

अन्य खबरें