रांची के 150 स्कूल बस हो जाएंगे कबाड़ ! जानें आखिर मामला क्या है ?

Smart News Team, Last updated: Sun, 15th Aug 2021, 6:11 PM IST
  • सरकार की कबाड़ नीति लागू होते ही रांची के 150 स्कूल बसों का परिचालन बंद हो जाएगा. रांची की स्कूलों में 1000 से अधिक बसें चलती है. इनमें करीब 150 बसें 15 साल पुरानी हैं. आदेश मिलते ही कर्रवाई करगे अधिकारी.
सरकार की कबाड़ नीति लागू होते ही रांची के 150 स्कूल बसों का परिचालन बंद हो जाएगा.

रांची. सरकार की कबाड़ नीति लागू होते ही रांची के 150 स्कूल बसों का परिचालन बंद हो जाएगा. ये बसें सड़कों पर नहीं चलेंगी. वैसी बसें भी अनफिट करार दी जाएंगी, जो फिटनेस टेस्ट पास नहीं कर पाएंगी. सरकार की नई नीति के अनुसार 15 साल से पुराने व्यावसायिक वाहन कबाड़ माने जाएंगे. रांची की स्कूलों में 1000 से अधिक बसें चलती है. इनमें करीब 150 बसें 15 साल पुरानी हैं. सरकार के नए नियम के बाद अब इन बसों का सड़कों पर चलना मुश्किल होगा. नीति लागू होते ही 15 साल पुरानी बसों के खिलाफ सख्ती शुरू हो जाएगी.

जिला प्रशासन के अधिकारियों का कहना है कि सरकार का आदेश मिलते ही 15 वर्ष से पुरानी बसों को सड़कों पर नहीं चलने दिया जाएगा. इसके पहले भी बसों की जांच की जाती थी और फिटनेस सर्टिफिकेट की मांग की जाती थी. फिटनेस नहीं रहने पर कई स्कूलों को नोटिस दिया गया था और जुर्माना भी लगा था. अब बसों की सभी मानकों पर जांच की जाएगी.

RJD सुप्रीमो लालू यादव का इलाज करने वाले रिम्स के डॉक्टर उमेश प्रसाद का निधन

स्कूल बसों के लिए सुप्रीम कोर्ट और सीबीएसई ने जो गाइडलाइन दी है, उसके अनुसार व्यवस्था की जांच की जाएगी. रांची के अधिकांश स्कूलों में बस ऑपरेटर उपलब्ध कराते हैं, जबकि कुछ स्कूलों की अपनी बसें भी हैं. नए नियम लागू होने के बाद स्कूल प्रबंधन और ऑपरेटरों को 15 साल पुरानी बसें स्कूलों में नहीं भेजने का आदेश दिया जाएगा. आदेश नहीं मानने वालों पर नियम के अनुसार कार्रवाई की जाएगी. शहर के थानों में काफी पुराने वाहन पड़े हैं. पुराने जब्त वाहन भी कबाड़ घोषित हो जाएंगे. हालांकि कई वाहनों से संबंधित मामले अभी अदालतों में लंबित हैं. जबतक कोर्ट का आदेश नहीं आ जाता तब तक वाहनों को थानों में रखा जाएगा. अदालती प्रक्रिया के बाद यदि वाहन 15 साल पुराने हो गए तो वे भी कबाड़ घोषित कर दिए जाएंगे.

अन्य खबरें