रांची के एक व्यक्ति ने उठाई भारत रत्न की मांग, कहा- आदिवासी समाज के लिए किए हैं कई काम

Smart News Team, Last updated: Tue, 17th Aug 2021, 2:37 PM IST
  • एक व्यक्ति ने भारत रत्न की मांग की है. व्यक्ति का मानना है कि उसने आदिवासी समाज के उत्थान के लिए बड़े स्तर पर काम किया है. जिसके लिए उसे भारत रत्न मिलना चाहिए.
रांची के एक व्यक्ति ने उठाई भारत रत्न की मांग, कहा- आदिवासी समाज के लिए किए हैं कई काम (फाइल फोटो)

रांची: रांची में एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है एक व्यक्ति ने सरकार से भारत रत्न की मांग की है. जिसे लेकर उसने डीसी से राष्ट्रपति को अपना नाम भेजने को कहा है. अपने मांग के समर्थन में व्यक्ति ने रांची के उपायुक्त को पत्र सौंपा है. जिसमें उन्होंने लिखा है कि वे अपनी मांग के संबंध में फरवरी 2018 में ही अप्लाई कर चुकें हैं. व्यक्ति ने पत्र में उपायुक्त से मांग की गई है कि राष्ट्रपति को उसका नाम भारत रत्न के भेजें.

हालांकि, उपायुक्त ने व्यक्ति से ही कई सवाल दाग दिए हैं. उपयुक्त ने जवाब में लिखा है कि 'राष्ट्रपति को अनुशंसा भेजने के लिए जरूरी है कि आप अपनी उपलब्धियों का ब्यौरा जमा कराएं.' जिसपर व्यक्ति ने दावा ठोका है कि उसने अप्रैल 2018 में सभी दस्तावेज उपायुक्त कार्यालय में जमा करा दिए हैं. लेकिन, इसके बावजूद भी अब तक कोई कार्यवाही नहीं हुई है. दावेदार का कहना है कि आवेदन देने के तीन साल गुजर चुकें हैं. व्यक्ति का दावा है कि उपायुक्त के मांगने पर उसने शैक्षिक और व्यक्तिगत जानकारियां साझा कर दी थी. लेकिन अब तक उन्हें इस मामले पर कोई कार्यवाही का ब्यौरा नही दिया गया.

झारखंड के तीन रेलवे स्टेशन को होगा कायाकल्प, बनेगा वर्ल्ड क्लास स्टेशन

जानकारी के मुताबिक दावेदारी करने वाले व्यक्ति का नाम भीष्म देव महतो है. भीष्म, रांची के सोनाहातू् थाना क्षेत्र के अंतर्गत बारूहातू गांव का रहना वाला है. भीष्म देव महतो मानते है कि विभिन्न जागरूकता अभियान के तहत उन्होंने आदिवासी समुदाय के लिए बहुत से काम किए है. जिसके लिए उन्हें सरकार द्वारा भारत रत्न मिलना चाहिए.

अन्य खबरें