रांची : शिक्षा मंत्री से मिला आश्वासन, पारा शिक्षकों ने रद्द की 15 नवंबर की धरना प्रदर्शन

Mithilesh Kumar Patel, Last updated: Sat, 13th Nov 2021, 11:48 PM IST
  • झारखंड के शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने शनिवार को एकीकृत पारा शिक्षक संघर्ष मोर्चा की मांगो को सशर्त स्थायीकरण, वेतनमान व अन्य नियमावली को लागू करने का आश्वासन दे दिया. जिसके बाद से मोर्चा ने 15 नवंबर यानी राज्य स्थापना दिवस के मौके पर होने वाले विरोध प्रदर्शन को रद्द कर दिया है.
शिक्षा मंत्री से आश्वासन पाकर पारा शिक्षकों ने 15 नवंबर की धरना प्रदर्शन की रद्द

रांची. झारखंड के शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने 29 दिसंबर को पारा शिक्षकों की स्थायीकरण, वेतनमान नियमावली सशर्त लागू करने का आश्वासन दे दिया है. जिसके बाद से 15 नवंबर यानी राज्य स्थापना दिवस के मौके पर कूच करने का ऐलान कर चुके पारा शिक्षकों ने विरोध प्रदर्शन के कार्यक्रम को रद्द करने का फैसला कर लिया है. शिक्षा मंत्री द्वारा आश्वासन का हवाला पाकर पारा शिक्षकों ने खुशी जाहिर करते हुए आगामी 29 दिसंबर को सूबे के मुख्यमंत्री मुख्यमंत्री व शिक्षा मंत्री दोनों के प्रति आभार जताने का फैसला किया है. इसके आलावा राज्य की मौजूदा सरकार के 2 साल पूरा करने के मौके पर राजधानी रांची के मोहराबादी मैदान में 29 दिसंबर को आयोजित कार्यक्रम में खुशी खुशी शामिल होने के साथ ही सूबे की सरकार के प्रति आभार प्रकट करने का फैसला किया है.

सूबे के पारा शिक्षक अपनी मांगों को लेकर नाराजगी जताने के लिए एक मंच एकीकृत पारा शिक्षक संघर्ष मोर्चा के नाम से बनाई थी और इसी के बैनर तले पिछले कई दिनों से विरोध प्रदर्शन करते आ रहे थे. उन्होंने झारखंड स्थापना दिवस के मौके पर कूच निकालने का फैसला किया था. इसे देखते हुए शनिवार को एकीकृत पारा शिक्षक संघर्ष मोर्चा का नेतृत्व कर रहे एक दल को सूब के शिक्षा मंत्री ने अपने आवास पर बुलावा था. जिसे स्वीकार कर मोर्चा के लोग उनसे बातचीत के लिए उनके आवास पर पहुंचे . बातचीत के दौरान शिक्षा मंत्री ने पारा शिक्षकों के स्थायीकरण, वेतनमान की नियमावली को सशर्त स्वीकार कर 29 दिसंबर 2021 को लागू करने का आश्वासन दे दिया. साथ ही इस तारीख के पहले पहले लागू करने की बात कही. उन्होंने कहा कि किसी भी कीमत पर इस बार नियमावली लागू होगी. और यह 2022 में नहीं जाएगा.

झारखंड में बेमौसम बारिश ने बढ़ाई मुश्किलें, रविवार को भी मौसम बिगाड़ने का अनुमान

शिक्षा मंत्री ने पारा शिक्षकों को भरोसा दिलाया और बताया कि 29 दिसंबर के पहले ही कैबिनेट से विधिसम्मत, वित्त व अन्य मामलो पर कार्यवाही पूरी कर इसे मंजूरी दे दी जाएगी. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन भी राज्य स्थापना दिवस के मौके पर होने वाले कार्यक्रम में भी पारा शिक्षकों के मामले पर अपनी बात रखेंगे. सरकारी शिक्षक भर्ती में पारा शिक्षकों के 50 प्रतिशत आरक्षण, टेट पास पारा शिक्षकों को वेतनमान का लाभ देने व सिर्फ प्रशिक्षित पारा शिक्षकों को परीक्षा परिणाम के पहले तत्काल प्रभाव से मानदेय बढ़ाने का आश्वासन शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने दिया है.

शिक्षा मंत्री के आश्वासन के बाद एकीकृत पारा शिक्षक संघर्ष मोर्चा की राज्य स्तरीय कमेटी के बिनोद बिहारी महतो, संजय कुमार दुबे, ऋषिकेश पाठक, प्रमोद कुमार, दशरथ ठाकुर, मोहन मंडल, प्रद्युम्न कुमार सिंह (सिंटू) ने फैसला लिया कि 15 नवंबर को मोर्चा की तरफ से होने वाला विरोध प्रदर्शन तत्काल रद्द कर सरकार को एक आखिरी मौका दिया जाएगा. और 29 दिसंबर को राज्य भर के पारा शिक्षक बड़े पैमाने पर राजधानी रांची के मोरहाबादी मैदान में जुटकर फूल माला के साथ सरकार के फैसले का धन्यवाद करेंगे.

अन्य खबरें