गिरफ्तार पूर्व मंत्री हरिनारायण राय और पत्नी को सीबीआई कोर्ट में पेश किया जायेगा

Smart News Team, Last updated: 10/12/2020 12:56 PM IST
  • सीबीआई अदालत से सजा के बाद हाई कोर्ट में कि थी, हाई कोर्ट ने 4 नवंबर को भी अपील खारिज की थी, 5 नवंबर को सीबीआइ ने अरेस्ट वारंट जारी किया, आय से अधिक संपत्ति मामले में सजा के बाद चल रहे थे फरार मंत्री हरिनारायण राय की पत्नी भी गिरफ्तार भाई अभी भी फरार.
गिरफ्तार पूर्व मंत्री हरिनारायण राय और पत्नी को सीबीआई कोर्ट में पेश किया जायेगा

रांची: आय से अधिक संपत्ति मामले में हाई कोर्ट ने पुर्व मंत्री हरिनारायण राय, पत्नी सुशीला देवी और भाई संजय राय की सज़ा बरकरार रखी है. सरेंडर नहीं करने पर सीबीआई ने बुधवार को गिरफ्तार किया था. दोनों को बिरसा मुंडा केंद्रीय कारा होटवार भेजने की प्रक्रिया जारी है. जनवरी 2017 में मनी लाउंड्रिंग के आरोप में पीएलएल कोर्ट में सभी को सात- सात साल की सजा सुनायी थी. पूर्व मंत्री ने सजा के खिलाफ अपील दायर की थी. आधी सजा काट लेने की वजह से हाइकोर्ट ने अपील के निपटारे तक जमानत दी थी. आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने के मामले में दायर अपील पर सुनवाई के बाद हाइकोर्ट ने चार नवंबर 2020 को फैसला सुनाया.

हाइकोर्ट द्वारा अपील खारिज किये जाने के बाद सीबीआइ के विशेष न्यायाधीश ने हरिनारायण राय, सुशीला देवी और भाई संजय राय के खिलाफ पांच नवंबर 2020 को गिरफ्तारी का वारंट जारी किया. इसके बाद से सीबीआइ हरिनारायण राय व अन्य को तलाश रही थी.

रिवर व्यू गार्डन प्रोजेक्ट के नाम पर जमीन पर अवैध कब्जा, जांच के निर्देश

ड्राइवर की गिरफ्तारी के बाद मिली सूचना के आधार पर हुई गिरफ्तारी.

मंत्री और उनकी पत्नी को गिरफ्तार करने के लिए सीबीआइ अधिकारियों की टीम मंगलवार को ही देवघर पहुंचा गई थी, लेकिन पूर्व मंत्री व उनके पारिवारिक सदस्यों के वहां नहीं मिलने के बाद सीबीआइ ने ड्राइवर को पकड़ कर पूछताछ की. ड्राइवर से मिली सूचना पर सीबीआइ ने दुमका से हरिनारायण राय और उनकी पत्नी सुशीला देवी को सुबह सात बजे गिरफ्तार किया.

HC का आदेश, 2 राज्यों में आवासीय पर रद्द होगा झारखंड मेडिकल कॉलेजों में नामांकन

इसके बाद उन्हें रांची लेकर आयी. राज्य के पूर्व मंत्री हरिनारायण राय, पत्नी सुशीला देवी और संजय राय को दिसंबर 2016 में सीबीआइ के विशेष न्यायाधीश की अदालत ने पांच-पांच साल की सजा और 50-50 हजार रुपये का जुर्माना लगाया था.

रांची सर्राफा बाजार में सोना चांदी के दामों में हुई बढ़ोतरी, आज का मंडी भाव

हालांकि मंत्री का भाई अब भी फरार है. आय से अधिक संपत्ति मामले में हाइकोर्ट द्वारा अपील खारिज करने के बाद सीबीआइ की विशेष अदालत ने गिरफ्तारी का वारंट जारी किया था. पूर्व मंत्री को दुमका स्थित उनके ससुराल से गिरफ्तार करने के बाद सीबीआइ की टीम रांची लेकर आयी है. दंपती को गुरुवार के दिन सीबीआइ के विशेष न्यायाधीश की अदालत में पेश किया जायेगा.

 

अन्य खबरें