300 रिटायर सैन्य कर्मचारी पूरे राज्य में देंगे अपनी सेवा, बनेंगे कोरोना वॉरियर

Smart News Team, Last updated: Wed, 12th May 2021, 10:37 AM IST
झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने बताया कि सैनिक कल्याण बोर्ड राज्य सरकार के साथ मिलकर कोरोना महामारी से लड़ने में पूरी तरह से सहायता करेगा. इसी के तहत सैनिक कल्याण बोर्ड ने 300 रिटायर पूर्व सैनिक कर्मचारियों कोरोना वॉरियर के रूप में अपनी सेवा देने के रूप में तैयार है.
झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन. (फाइल फोटो)

रांची : झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन और सैनिक कल्याण बोर्ड के बीच हुई हाई लेवल मीटिंग के के बाद सीएम हेमंत सोरेन ने बताया कि प्रदेश में फैलते कोरोना वायरस से लड़ने के लिए सैनिक कल्याण बोर्ड अपनी तरफ से पूरी सहायता करने की कोशिश कर रहा है. इसी कोशिश के तहत 300 रिटायर्ड सैन्य कर्मचारी राज्य में कोरोना वॉरियर के रूप में अपनी सेवा देंगे. सोरेन ने आगे कहा कि राज्य सरकार प्रदेश के अस्पतालों में डॉक्टर नर्स जैसे श्रम बल लोगों की कमी से जूझ रहा है. अगर राज्य का कोई भी रिटायर डॉक्टर और कर्मी अपनी सेवा कोरोना वॉरियर्स के रूप में देना चाहते हैं तो आगे आये सरकार उनकी सेवा लेने के लिए तैयार है.

मुख्यमंत्री ने छोटा नागपुर और कोल्हान के सांसदों और विधायकों के साथ ऑनलाइन बैठक की. बैठक के दौरान उन्होंने कहा कि राज्य दूसरी महामारी से लड़ते हुए आने वाली तीसरे लहर से लड़ने की पूरी तैयारी कर रही है. सरकार अपनी पूरी ताकत से स्वास्थ्य व्यवस्था बेहतर करने में जुटा हुआ है. ग्रामीण इलाकों के लोगों में जानकारी का अभाव है और वहां कोरोना वायरस का खतरा ज्यादा है इस लिए राज्य सरकार ग्रामीण इलाकों में कोरोना वायरस न फैले इस पर सरकार का विशेष ध्यान दे रहा है. सोरेन ने राज्य के विधायकों और सांसदों से अनुरोध किया है कि उनके परिचय में अगर कोई कोरोना वॉरियर्स के रूप में अपनी सेवा देना चाहता है तो इसकी जानकारी दें.

झारखंड में पूर्ण लॉकडाउन! जानें सोरेन सरकार कब लेगी पाबंदी बढ़ाने पर फैसला

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने आगे कहा कि राज्य को कोरोना से निपटने के लिए जरूरी संसाधन की कमी नहीं है. ग्रामीण इलाकों में रहने वाले लोगों के लिए दवाओं की कोई कमी नहीं है. सरकार ने पहले ही आंगनबाड़ियों के पास कोरोना की किट पहुंचाने का काम शुरू कर दिया है. साथ ही सरकार ग्रामीण इलाकों में कोरोना की जांच, इलाज और टीकाकरण को लेकर बड़े स्तर पर कार्य कर रही है. सरकारी अधिकारी ग्रामीण इलाकों में कोरोनावायरस बचाव के लिए प्रचार प्रसार कर रहे हैं.

रांची: मोबाइल वैन से अब गली-मोहल्लों में भी हो रही कोरोना जांच, टेस्टिंग के लिए करना होगा ये काम

रेमडेसिविर की कालाबाजारी में रांची ग्रामीण एसपी का नाम आया सामने, SP बोले- मेरा कोई गलत इरादा नहीं था

रांची यूनिवर्सिटी कर रहा स्टूडेंट्स को प्रमोट, यूजी और पीजी के छात्र पढ़ें डिटेल

अन्य खबरें