Good News: झारखंड सरकार ने पारा शिक्षकों को दिया बड़ा तोहफा, बढ़ेगा मानदेय और...

Ruchi Sharma, Last updated: Tue, 15th Feb 2022, 11:48 AM IST
  • झारखंड सरकार ने पारा शिक्षकों को 60 वर्ष तक स्थायी करने तथा उनके मानदेय बढ़ाने के लिए सहायक अध्यापक सेवा शर्त नियमावली, 2021 वित्त विभाग से प्राप्त सुझावों एवं आपत्तियों को शिथिल कर झारखंड मंत्रिपरिषद द्वारा स्वीकृत की गई.
झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन

रांची. झारखंड की हेमंत सोरेन सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए पारा शिक्षकों को तोहफा दिया है. झारखंड सरकार ने पारा शिक्षकों को 60 वर्ष तक स्थायी करने तथा उनके मानदेय बढ़ाने के लिए सहायक अध्यापक सेवा शर्त नियमावली, 2021 वित्त विभाग से प्राप्त सुझावों एवं आपत्तियों को शिथिल कर झारखंड मंत्रिपरिषद द्वारा स्वीकृत की गई. अब 62,896 पारा शिक्षक सहायक अध्यापक कहलाएंगे. साथ ही पारा शिक्षक 60 वर्ष तक सेवा में बने रहेंगे.

स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग द्वारा जारी संकल्प में इसका स्पष्ट उल्लेख किया गया है. वहीं, कार्मिक विभाग ने इसपर स्वीकृति इस शर्त पर दी थी कि विभाग सहायक अध्यापकों (पारा शिक्षकों) के सेवाकाल में निधन पर आश्रितों को अनुकंपा पर दी जानेवाली नौकरी के स्वरूप को स्पष्ट करेगा. स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग ने स्पष्ट किया है कि उक्त नौकरी आवश्यक योग्यता रखने पर पारा शिक्षक के पद पर ही दी जाएगी.

UPPSC पीसीएस 2018 स्केलिंग विवाद: हाई कोर्ट ने चयनित ‌अभ्यर्थियों को थमाया नोटिस

शिकायत मिलने पर होगाी कार्रवाई

नयी नियमावली के तहत अब सहायक अध्यापक (पारा शिक्षक) का चयन नहीं होगा, बल्कि कार्यरत सहायक अध्यापक के खिलाफ शिकायत मिलने पर जांच कर उचित कार्रवाई की जायेगी. सहायक अध्यापकों के खिलाफ लघु व वृहद दंड का भी नियमावली में प्रावधान किया गया है.

ओम प्रकाश राजभर का गंभीर आरोप- CM योगी आदित्यनाथ मेरी हत्या कराना चाहते हैं

इनका भी बढ़ेगा मानदेय

टेट उत्तीर्ण स्नातक प्रशिक्षित और इंटरमीडिएट प्रशिक्षित सहायक अध्यापकों को आकलन परीक्षा नहीं देनी होगी. इनके मानदेय में 50 प्रतिशत की वृद्धि की जायेगी. शेष प्रशिक्षित पारा शिक्षक, जो टेट उत्तीर्ण नहीं हैं, उनके मानदेय में 40 प्रतिशत की बढ़ोतरी होगी.

अन्य खबरें