स्कूल ड्रेस के सरकारी पैसे से बिहार में शराब की तस्करी का बिजनेस, तीन छात्र गिरफ्तार

Shubham Bajpai, Last updated: Fri, 29th Oct 2021, 5:32 PM IST
  • झारखंड के दुमका ने पुलिस ने तीन छात्रों को अवैध शराब के साथ गिरफ्तार किया. ये तीनों छात्र स्कूल ड्रेस के लिए मिले सरकारी पैसे से अवैध शराब का कारोबार कर रहे थे. छात्र झारखंड से शराब खरीदकर बिहार में जाकर बेचते थे. 
स्कूल ड्रेस को मिला सरकारी पैसा, छात्रों ने शुरू कर दिया अवैध शराब का कारोबार (फाइल फोटो)

रांची. झारखंड के दुमका को अवैध शराब का हैरान करने वाला मामला सामने आया. इस मामले में कोई अपराधी नहीं बल्कि स्कूल में पढ़ने वाले बच्चे अवैध शराब की ब्रिकी कर रहे थे. जिनको पुलिस ने हिरासत में लिया. हंसडीहा थाने की पुलिस ने अवैध शराब ब्रिकी के मामले में तीन छात्रों को पकड़ा, जो झारखंड से शराब लेकर बिहार बेचते थे. पुलिस पूछताछ में पता चला कि छात्रों ने स्कूल ड्रेस के लिए मिले पैसे से अवैध शराब का कारोबार शुरू किया. तीनों छात्रों की पहचान भागलपुर निवासी संजीव कुमार, निलेश कुमरा और प्रीतम कुमार के तौर पर हुई है.

झारखंड से ले जाकर बिहार में बेचते थे शराब

पुलिस पूछताछ में आरोपी छात्रों ने बताया कि वो बिहार के रहने वाले हैं. उनको स्कूल यूनिफॉर्म के लिए 6 हजार रुपये मिले थे. जिससे उन्होंने अवैध शराब का कारोबार शुरू किया. वो झारखंड से शराब लाकर बिहार में बेचते थे. जिससे उनकी अच्छी आमदनी हो रही थी.

Government Jobs: झारखंड के सभी कलेक्‍ट्रेट में भर्ती के लिए जल्द आएगी वैकेंसी

भागलपुर में मनमानी कीमत में करते थे शराब की ब्रिकी

छात्रों ने बताया कि वो भागलपुर जिले के रहने वाले हैं. वो शराब की ब्रिकी भी भागलपुर के कई इलाकों में करते थे. इसके लिए वो शराब खरीदने वालों से मनमानी कीमत वसूल करते थे. शराब ब्रिकी से उन्हें काफी आमदनी हो रही थी.

रांची बार एसोसिएशन चुनाव मतगणना के बाद कोर्ट में हर्ष फायरिंग की प्रशासनिक जांच कराएगा HC

सूचना के आधार पर पुलिस ने की कार्रवाई

पुलिस ने बताया कि उनको सूचना मिली की श्रीहरि बस से तीन स्कूली छात्र शराब लेकर भागलपुर जा रहे हैं. जिसके आधार पर पुलिस ने झारखंड-बिहार सीमा पर चेकिंग चलाकर बस की जांच की. जिसमें पिछली सीट में बैठे लड़कों के पास बैग में पुलिस को करीब 3 दर्जन अंग्रेजी शराब मिली. पुलिस ने शराब जब्त करने के साथ तीनों को पकड़ लिया. अब तीनों छात्रों को शराब के साथ उत्पाद विभाग के अधिकारियों को सौंप दिया गया है. इस मामले में उत्पाद विभाग आगे की कार्रवाई करेगा.

बता दें कि बिहार में शराब बंदी के बाद से लगातार चोरी-छिपे शराब की बिक्री की जा रही है. जिसमें कई अपराधिक प्रवृत्ति के लोग शराब का अवैध कारोबार कर रहे हैं. वहीं, अब इस कारोबार में छात्रों के शामिल होने की बात सामने आने के बाद बिहार पुलिस की लिए इनकी धड़पकड़ को लेकर चुनौतियां और बढ़ सकती है.

 

अन्य खबरें