रांची में चाइल्ड ट्रैफिकिंग गिरोह का भंडाफोड़, 2 दलाल एयरपोर्ट से गिरफ्तार

Smart News Team, Last updated: Thu, 24th Jun 2021, 8:43 PM IST
  • केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल ने रांची के बिरसा मुंडा एयरपोर्ट पर चाइल्ड ट्रैफिकिंग में शामिल गिरोह का भंडाफोड़ किया है. पूरी कार्रवाई में सीआईएसएफ ने 15 नाबालिग बच्चों की जिंदगी बचाई है. साथ ही 2 दलालों को भी गिरफ्तार किया गया है.
CISF ने रांची के बिरसा मुंडा एयरपोर्ट पर चाइल्ड ट्रैफिकिंग गिरोह से 15 बच्चों की जिंदगी बचाई है

रांची के बिरसा मुंडा एयरपोर्ट पर गुरुवार को केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (CISF) ने चाइल्ड ट्रैफिकिंग में शामिल एक बड़े गिरोह का भंडाफोड़ किया है. साथ ही सीआईएसएफ ने 15 बच्चों की जिदंगी को भी बचाया है. जानकारी के मुताबिक लातेहार के 14 नाबालिक लड़के और एक नाबालिग लड़की को काम दिलाने के बहाने प्लेन से दिल्ली होते हुए जम्मू कश्मीर ले जाने की योजना थी. लेकिन एयरपोर्ट पर तैनात सीआईएसएफ के जवानों को शक हुआ कि बच्चे नाबालिग हैं और इन्हें बहला फुसलाकर बाहर ले जाया जा रहा है.

बता दें कि सीआईएसफ ने जब बच्चों के आईडी कार्ड की जांच की, तो वह सभी नाबालिग निकले. इसके बाद 15 बच्चों को ले जा रहे दलाल राजू गंझू और उसकी पत्नी के अलावा उनके 3 बच्चों को यात्रा करने से रोक दिया गया. इसके बाद सभी को एयरपोर्ट अथॉरिटी को सौंप दिया गया. बच्चों से जुड़ा मामला होने के कारण सभी को बाल कल्याण समिति, रांची के सामने पेश किया गया. जहां बच्चों का कोविड टेस्ट कराने के बाद उन्हें बालाश्रय भेज दिया गया. बच्चों से जुड़ी जानकारी और उनके बयान शुक्रवार को रिक़ॉर्ड किए जाएंगे.

मॉनसून में वाटरफॉल का मजा, रांची से 1 घंटे के ट्रिप में हैं ये शानदार 5 जलप्रपात

बता दें कि बच्चों को आश्रय देने के बाद ट्रैफिकिंग का मामला होने पर सीडब्ल्यूसी ने एफआईआर दर्ज करने के लिए कोतवाली थाना स्थित एंटी ह्यूमन यूनिट को सौंप दिया. बच्चों की दोबार तस्करी न हो. इसके लिए सीडब्ल्यूसी नजर रख रही है. सभी बच्चों को जल्द रीस्टोर किया जाएगा. एफआईआर दर्ज कराने का निर्देश दिया गया है.

यूपी में फंसे मजदूर ट्रेन से पहुंचे रांची, अगवा हुई दो महिलाओं की खोज जारी

 

अन्य खबरें