8 से 12 साल के बच्चे निकले घूमने, भटक गए रास्ता, थाने में सुनाई अपहरण की कहानी

Smart News Team, Last updated: Mon, 1st Feb 2021, 5:01 PM IST
  • रांची पुलिस को पांच बच्चों ने झूठी कहानी बनाकर छका दिया. मामले की पूरी कहानी सुन अब पुलिस भी सकते में हैं. दरअसल, रांची के मेकॉन कॉलोनी से रविवार को भटककर पांच बच्चे बेड़ो पहुंच गए.
8 से 12 साल के बच्चे निकले घूमने (प्रतीकात्मक तस्वीर)

रांची पुलिस को पांच बच्चों ने झूठी कहानी बनाकर छका दिया. मामले की पूरी कहानी सुन अब पुलिस भी सकते में हैं. दरअसल, रांची के मेकॉन कॉलोनी से रविवार को भटककर पांच बच्चे बेड़ो पहुंच गए. वहां पहुंचकर भटके बच्चों को स्थानीय लोगों ने बेड़ो थाने पहुंचा दिया. इतना ही नहीं, जब पुलिस ने जब बच्चों से पूछताछ की तो उन्होंने झूठी कहानी गढ़ दी. पुलिस को बच्चों ने बताया की मेकॉन कॉलोनी स्थित एक मैदान में बैडमिंटन खेलने के दौरान नशीला दवाई सुंघाकर उनका अपहरण कर लिया गया.

इस दौरान बच्चों ने बताया कि एक ऑटो से उन्हें ले जाया जा रहा था. हालांकि, बच्चों की बात सुनकर और अपहरण की जानकारी मिलने के बाद पुलिस ने पूरे इलाके में नाकेबंदी कर संबंधित ऑटो की तलाश शुरू कर दी गई. इसके बाद पूरे जिले में बच्चा चोरी की आशंका पर हाई अलर्ट भी कर दिया गया था. बच्चों ने थाने में अपना बयान अपहरण से संबंधित ही दर्ज करवाया.

मिठाई की दुकान पर रंगदारी में रसगुल्ला न देने पर फायरिंग, 3 लोग गिरफ्तार

हालांकि, जब बच्चों को पुलिस ने परिजनों को सौंप दिया और परिजन लेकर घर पहुंचे तब बच्चों ने हकीकत बताई और बताया कि अपहरण की झूठी कहानी गढ़ी थी. दरअसल, बच्चों की उम्र 8 से लेकर 12 साल के बीच की है. सभी प्लान बनाकर घूमने निकले थे. उनके पास करीब 1000 रुपये भी थे. बच्चों में तीन बच्चियां भी शामिल हैं. सभी मेकॉन कॉलोनी से निकलकर दिबडीह पहुंचे थे. वहां से ऑटो पकड़ कर रातू रोड पहुंचे. रातू रोड से ऑटो से ही बेड़ो पहुंच गए. वहां ऑटो वाले ने उतार दिया. इसके बाद बच्चों को समझ आया कि वह भटक गए हैं. इसके बाद एक दुकान में जाकर उन लोगों ने अपने परिजनों को कॉल करने के लिए कहा. परिजनों को जानकारी देने के बाद उन बच्चों को संबंधित दुकानदार ने थाने पहुंचा दिया, वहां जब बच्चे पहुंचे तो अपहरण की जानकारी दी.

 

अन्य खबरें