रांची एयरपोर्ट पर फर्जी RTPCR रिपोर्ट बनाने वाले गिरोह का खुलासा, 2 आरोपी अरेस्ट

Smart News Team, Last updated: Sun, 20th Jun 2021, 9:59 AM IST
  • रांची के बिरसा मुंडा एयरपोर्ट पर तैनात सीआईएसएफ की टीम ने फर्जी आरटीपीसीआर टेस्ट रिपोर्ट बनाने वाले गिरोह का खुलासा किया है. जिसमें दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है. यह गिरोह लोगों से 1000 रुपये लेकर उन्हें नकली रिपोर्ट देता था.
RTPCR टेस्ट की फर्जी रिपोर्ट बनाने वाले गिरोह के दो सदस्य गिरफ्तार (प्रतीकात्मक तस्वीर)

रांची. राजधानी रांची से फर्जी आरटीपीसीआर टेस्ट रिपोर्ट बनाने वाले एक गिरोह का खुलासा हुआ है. इस गिरोह का संचालन पैथोलॉजी लैब में काम करने वाले दो लोग करते थे. फ्लाइट में सफर करने वाले जिन लोगों के पास आरटीपीसीआर रिपोर्ट नहीं होती थी, ये गिरोह उन्हें 1000 रुपये में रिपोर्ट मुहैया कराता था. बिरसा मुंडा एयरपोर्ट पर तैनात सीआईएसएफ की टीम ने इस गिरोह का पर्दाफाश किया है. जिसके बाद पुलिस ने गिरोह के दो सदस्य अली और शमीम को गिरफ्तार कर लिया है.

पुलिस ने बताया कि दोनों आरोपी अपर बाजार इलाके के रहने वाले है. दोनों डोरंडा स्थित पैथालॉजी लैब में काम करते थे. इन लोगों के टारगेट में सबसे ज्यादा मजदूर लोग आते थे, क्योंकि मजदूर लोग काम की खोज में दूसरे राज्यों में जा रहे है. लेकिन अधिकतर मजदूर कोविड की आरटीपीसीआर जांच नहीं कराना चाहते है. हालांकि हवाई जहाज में यात्रा करने के लिए इनके पास आरटीपीसीआर टेस्ट की रिपोर्ट होनी जरूरी होती है. इस कारण ये लोग आसानी से इस गिरोह का शिकार बन जाते है.

रांची: टीचर ट्रांसफर पोर्टल पर आंकड़ें नहीं हो रहे अपलोड, शिक्षा सचिव ने मांगी रिपोर्ट

यह गिरोह जरूरतमंद लोगों से 1000 हजार रुपये लेकर उन्हें फर्जी आरटीपीसीआर की रिपोर्ट देता था. दोनों आरोपी अली और शमीम दूसरों की आरटीपीसीआर रिपोर्ट में नाम को एडिट कर देते थे और फर्जी रिपोर्ट तैयार करके लोगों को देते थे. पुलिस इस मामले में जांच करके पता लगा रही है कि इस गिरोह में अन्य लोग भी शामिल है या नहीं. मामले की छानबीन पूरी होने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी.

अन्य खबरें