CM हेमेंत सोरेन ने 40 फीसदी तक सिलेबस कम किया, कल से जारी होगा नया पाठ्यक्रम

Smart News Team, Last updated: Thu, 5th Nov 2020, 11:03 PM IST
  • सीएम हेमंत सोरेन ने राज्य के सरकारी स्कूलों में पहली से 12 वीं तह के संशोधित पाठ्यक्रम को मंजूरी दे दिया है. इसे शुक्रवार को स्कूली शिक्षा और साक्षरता विभाग जारी कर देगा. इस नए पाठ्यक्रम में 40 फीसद तक पाठ्यक्रम की कटौती किया गया है.
कल से जारी होगा राज्य सरकारी स्कूलों में 1 से 12वीं तक का नया पाठ्यक्रम

झारखण्ड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने राज्य के सरकारी स्कूलों में कक्षा 1 से 12वीं तक संशोधित सिलेबस को मंजूरी दे दिया है. इस नए सिलेबस में 40 फीसद तक की कटौती किया गया है. इस नए सिलेबस को स्कूली शिक्षा और साक्षरता विभाग शुक्रवार को जारी भी करने जा रहा है. सिर्फ 10+2 ही नहीं बल्कि आठवीं तक के पाठ्यक्रम को 40 फीसद तक कम कर दिया गया है. जारी होने जा रहे नए पाठ्यक्रम में जहां गणित में चैप्टर्स घटाए गए है वही भाषा की विषयों में चैप्टर को बढ़ाया गया है.

जो छात्र-छात्राए मैट्रिक के पाठ्यक्रम में पढ़ चुके है या 11वीं में पढ़ने वाले है उन सभी को नए पाठ्यक्रम से बाहर कर दिया गया है. इसी तरह इंटरमीडिएट के पाठ्यक्रम में भी बदलाव किया गया है. अगस्त महीने छात्रों को उपलब्ध कराए गर पाठ्यक्रम को संसोधित सिलेबस में शामिल रखा गया है. जो कंटेंट छात्रों को मिला है उसके अलावा सिलेबस में जो पाठ्य और टॉपिक्स है उसमे से 40 फीसद की कटौती किया गया है.

RJD सुप्रीमो लालू यादव की कल झारखंड HC में सुनवाई, जमानत पर हो सकता है फैसला

सीबीएसई तरह जारी होगा वेटेज ऑफ मार्क्स

सीबीएसई की तरह ही राज्य सरकार की स्कूली शिक्षा और साक्षरता विभाग मैट्रिक और इंटरमीडिएट के छात्र-छात्राओं के लिए वेटेज ऑफ मार्क्सजारी करेगी. इससे सभी परीक्षाथियों को पता चल सकेगा कि किस पाठ्य और टॉपिक से परीक्षा में कितने नंबर के सवाल पूछे जाएगे.

मॉडल पेपर किए जाएंगे जारी

इस नए पाठ्यक्रम संशोधित होने के साथ ही हाईस्कूल और इंटर के मॉडल प्रश्न पत्र जारी किया जाएगा. जिसको जैक की तरफ से नए पाठ्यक्रम के आधार पर ये मॉडल प्रश्न पत्र तैयार किया जा रहा है. इस मॉडल पेपर में सभी संशोधित पाठ्य से प्रश्न होंगे.

60 लाख पेंशनर्स को दीवाली गिफ्ट देने की तैयारी में मोदी सरकार, ये है प्रस्ताव

नए पाठ्यकर्म को सभी विद्यार्थियों तक पहुंचने की चुनौती विभाग के सामने है. कोरोना के चलते सभी स्कूल बंद है. सभी के पास मोबाइल और इंटरनेट की सुविधा भी नहीं है. ऐसी स्थिति में जेईपीसी, जेसीईआरटी, जिलों की वेबसाइट पर नए पाठ्यक्रम को विभाग उपलोड करेगा और सभी विद्यार्थियों को स्कूल में बुलाकर इसकी जानकारी दी जाएगी.

झारखंड के पूर्व डिप्टी CM सुदेश महतो दोबारा हुए कोरोना पॉजिटिव

झारखंड के पूर्व सचिव सजल चक्रवर्ती का निधन, चारा घोटाले में रहे दोषी

झारखंड सरकार कराएगी छात्रवृत्ति घोटाले की जांच, दोषियों पर होगी कार्रवाई

अन्य खबरें