भोजपुरी-मगही से हेमंत सरकार को झारखंड के बिहारीकरण होने का डर, बोले झारखंड की भाषा नहीं..

Pallawi Kumari, Last updated: Tue, 14th Sep 2021, 12:42 PM IST
  • झारखंड सरकार ने एक इंटरव्यू के दौरान भोजपुरी और मगही जैसी भाषाओं को स्थानीय भाषा मामने से इंकार किया. उन्होंने कहा कि ये झारखंड की नहीं बल्कि बिहार की भाषा है, फिर झारखंड का बिहारीकरण क्यों.
भोजपुरी मगही भाषा पर हेमंत सरकार का हमला. फोटो साभार-हिन्दुस्तान टाइम्स

रांची. राज्य में नयी नियोजन नीति के तहत भाषायी विवाद की आग सुलगती जा रही है. हाल ही में 5 अगस्त को सदन में राज्य सरकार ने नयी नियोजन नीति में 12 क्षेत्रीय एवं जनजातीय भाषाओं को चिन्हित कर स्वीकृति दी, जिसमें पर मैथिली, मगही, भोजपुरी, अंगिका, भूमिज जैसी भाषाओं को शामिल नहीं किया गया. इसपर विपक्षी नेताओं ने असहमति जताते हुए कहा कि, राज्य में ऐसे कई जिले हैं जहां बड़ी संख्या में भोजपुरी, मैथिली, अंगिका भाषायी लोग रहते हैं और बोलते हैं. नयी नियोजन नीति में इन भाषाओं को शामिल नहीं करने से इसका असर उनके करियर पर पड़ सकता है.

अब इसबीच मुख्यमंत्री हेमंत ने एक इंटरव्यू में भोजपुरी और मगही भाषा पर हमला करते हुए कहा कि ये झारखंड की भाषा नहीं है और उन्होंने इसे स्थानीय भाषा मानने से इंकार कर दिया. उन्होंने भोजपुरी और मगही भाषा के खिलाफ कहा कि, भोजपुरी और मगही बोलने वाले डॉमिनेट लोग है. आंदोलन के दिनों में भोजपुरी बोलने वाले लोग झारखंड के लोगों पर अत्याचार करते थे. 

रांची : रेलवे के खुर्दा रोड मण्डल में एक माल गाड़ी डिरेल, रांची आने जाने वाली कई ट्रेने रद्द

हेमंत सोरेन ने आगे कहा कि- आंदोलन के दिनों में आंदोलनकारियों के छाती पर पैर रखने औऱ महिलाओं की इज्जत लूटते वक्त भोजपुरी में ही गालियां दी जाती थी. मगही-भोजपुरी झारखंड की भाषा नहीं है. झारखंड का बिहारीकरण नहीं होने दिया जाएगा.

हेमंत सोरोन के इस बयान के बाद बीजेपी ने उनके बयान का जोरदार विरोध किया. भाजपा प्रवक्ता कुणाल षाडंगी ने ट्वीट कर कहा कि, खुला प्रश्न सभी गठबंधन दलों से, इंटरव्यू में मुख्यमंत्री @HemantSorenJMM जी के भोजपुरी,मगही भाषाएँ बोलने वालों के लिए जो विचार हैं क्या वे सहमत हैं? जिनसे राजधर्म की उम्मीद की जाती है क्या किसी विशेष व्यक्ति या वारदात के आधार पर पूरे समाज को अपमानित करने का अधिकार उन्हें है?

रांची में महंगा होगा पानी कनेक्शन लेना, जल संयोजन नियामावली 2020 को मंजूरी मिलना तय

अन्य खबरें