RIMS में मरीजों को कम कीमत पर मिलेगी जांच सुविधाएं, सीएम हेमंत सोरेन ने किया सेंट्रल लैब,सीटी स्कैन का उद्घाटन

Prince Sonker, Last updated: Fri, 8th Oct 2021, 12:46 AM IST
  • मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने बुधवार को एक साथ सेंट्रल लैब, कोबास मशीन, पीएसए ऑक्सीजन प्लांट और एडवांस सीटी स्कैन मशीन का उद्घाटन किया. उद्घाटन के बाद मरीजों को सस्ती दर पर जांच की सुविधाएं मिल सकेंगी.
रिम्स में स्वास्थ्य सेवाओं का उद्घाटन करते मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन 

रांची. रांची में अब गरीब मरीजों को जांच के लिए निजी पैथोलॉजी के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे. प्रदेश के सबसे बड़े अस्पताल रिम्स में अब मरीजों को सस्ते दर पर ब्लड से लेकर रेडियोलॉजी जांच तक की विभिन्न सुविधाएं मिलेंगी. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने बुधवार को सेंट्रल लैब का उद्घाटन किया और साथ ही कोरोना जांच के लिए लाई गई कोबास,पीएसए ऑक्सीजन प्लांट और एडवांस सीटी स्कैन मशीन का भी उद्घाटन किया. विश्वस्तरीय एडवांस सीटी स्कैन मशीन से मरीजों को अब 24 धंटे के अंदर जांच रिपोर्ट भी मिल जाएगी. कोरोना की तेज गति से जांच के लिए लगाई गई कोबास मशीन से अब एक दिन में करीब 1200 सैंपल की जांच की जा सकेगी. इस मशीन से सिर्फ कोविड ही नहीं बल्कि सभी तरह के वायरल, हैपेटाइटिस सहित अन्य जांचे भी की जा सकेंगी.

मुख्यमंत्री ने ट्रॉमा सेंटर में स्थापित 256 स्लाइस की एडवांस सीटी स्कैन मशीन का भी उद्घाटन किया. इस मशीन से ब्रेन,कोरोनरी एंजियोग्राफी के अलावा लंग्स स्कैन की सुविधा आम मरीजों को मिलेगी. अब तक मरीजों को सीटी स्कैन की जांच के लिए निजी अस्पतालों में ज्यादा पैसे खर्च करने पड़ते थे लेकिन मुख्यमंत्री के उद्घाटन के बाद मरीजों को अब एक ही छत के नीचे सस्ती दर पर जांच की सुविधाएं मिलेंगी. वहीं आयुष्मान कार्ड और गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले लोगों की सभी जांच फ्री होगी. सीबीसी टेस्ट, एलएफटी, आरएफटी, थायरॉइड प्रोफाइल, लिपिड प्रोफाइल, यूरिया आदि जांचे निजी अस्पतालों की तुलना में 40 से 80 प्रतिशत कम दाम में हो पाएगी. 

राजधानी रांची के ओरमांझी में कारोबारी की बहादुरी से पकड़ा गया लुटेरा, दो पिस्टल बरामद

रिम्स निदेशक डॉ कामेश्वर ने कहा कि अस्पताल में सिटी स्कैन की कमी काफी दिनों से खल रही थी, जिसको आज पूरा कर दिया गया. मरीजों को अब ज्यादा पैसे देकर बाहर सिटी स्कैन नहीं कराना पड़ेगा. बता दें कि जांच की लचर व्यवस्था को ठीक करने के लिए झारखंड हाईकोर्ट ने रिम्स प्रबंधन को फटकार लगाई थी.

अन्य खबरें