CM हेमंत सोरेन ने कहा-राज्य के किसानों की कृषि उत्पादकता बढ़ाना हमारी प्राथमिकता

Smart News Team, Last updated: 14/12/2020 11:12 PM IST
  • झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने सोमवार को जल संसाधन विभाग के साथ बैठक किया. जिसमे उन्होंने चल रही और शुरू होने वाली परियोजनाओं के बारे में जानकारी लिया और उन्हें जल्द पूरा करने के निर्देश भी दिए.
CM हेमंत ने की जल संसाधन विभाग की समीक्षा, अधूरी परियोजनाओं को पूरा करने के दिए निर्देश

हेमंत सोरेन सरकार जल्द ही झारखंड में खेतों में पाइपलाइन के जरिए सिचाई करने कि प्रणाली को विकसित करने जा रही है. जिसके लिए तैयारियां भी शुरू हो चुकी है. इससे योजना से खासकर पहाड़ी और ऊंचाई वाले क्षेत्रों में सिचाई करना आसान हो जाएगा. इस प्रणाली को जल्द से जल्द पूरा करने के लिए निर्देश मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने दिया. दरअसल सोमवार को सीएम सोरेन जल संसाधन विभाग कि कार्य प्रगति कि समीक्षा करने गए थे, उसी दौरान उन्होंने ये निर्देश दिया.

जल संसाधन विभाग की कार्य प्रगति की समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि यह विभाग किसानों के हित और विकास से जुड़ा हुआ है. यहां पर कृषि के लिए असीम संभावनाए है. यहां के किसानों के कृषि उत्पादन की क्षमता को बढ़ाना हमारी प्राथमिकता है. इसके बाद सीएम सोरेन ने जल संसाधन विभाग को खेतो में सिचाई के लिए समय से पानी उपलब्ध कराने के लिए निर्देश भी दिए.

लालू यादव की किडनी की बीमारी स्टेज 4 में पहुंची, आगे और बिगड़ सकती है तबीयत

सीएम ने योजनाओं में तेजी लेन के निर्देश दिए

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने हाल में चल रही सभी परियोजनाओं में तेजी लेन के निर्देश दिए. जिसमे उन्होंने ने कोनार सिचाई परियोजना के बारे में बोलै कि इस परियोजना को पूरा करने के लिए फॉरेस्ट क्लीयरेंस और भूमि अधिग्रहण के लिए टेंडर प्रक्रिया को जल्द पूरा करने के लिए कहा. वहीं देवघर में पुनासी जलाशय परियोजना पर कहा कि यह परियोजना वहां के लिए बेहद उपयोगी है, जिसे जल्द से जल्द पूरा करने के निर्देश दिया. साथ ही गुमानी बराज परियोजना को अगले साल तक चालू करने के भी निर्देश दिया.

झारखंड हाइकोर्ट ने हेमंत सोरेन सरकार से मांगी आवास आवंटन प्रक्रिया की रिपोर्ट

इन परियोजनाओं की जानकारी भी लिया

सीएम हेमंत सोरेन ने जल संसाधन विभाग के सचिव प्रशांत कुमार से राज्य में चल रही अन्य परियोजनाओं की जानकारी ली. जिसमे अमानत बराज परियोजना, अन्नराज जलाशय योजना, चेगरी नाला और मुर्गाबनी जोरिया पर चेक डैम निर्माण कार्य, सोन-कनहर पाइपलाइन सिंचाई परियोजना, खुदीया वीयर योजना, पलना जलाशय योजना, पलामू पाइपलाइन सिंचाई परियोजना, तिलैया मेगा और भोगनाडीह मेगा की लिफ्ट योजना के बारे में जानकारी ली.

अन्य खबरें