ACB करेगी रघुबर के समय बने विधानसभा, हाईकोर्ट भवन के निर्माण में गड़बड़ी की जांच

Smart News Team, Last updated: Fri, 2nd Jul 2021, 9:50 PM IST
  • झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन ने झारखंड विधानसभा और झारखंड हाईकोर्ट के नए भवनों के निर्माण कार्य में वित्तीय गड़बड़ी की शिकायतों की जांच एंटी करप्शन ब्यूरो यानी एसीबी को करने का आदेश दिया है. दोनों प्रोजेक्ट बीजेपी सरकार और पूर्व सीएम रघुबर दास के कार्यकाल के हैं.
रघुबर दास के समय बने विधानसभा, हाईकोर्ट भवन की होगी जांच.

रांची. झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री रघुबर दास की भाजपा सरकार के कार्यकाल में रांची में बने नए विधानसभा और हाईकोर्ट भवन के निर्माण में कथित वित्तीय गड़बड़ी की जांच एसीबी करेगी. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने एंटी करप्शन ब्यूरो को दोनों भवनों के निर्माण में वित्तीय अनियमितता के आरोपों की जांच का आदेश दिया है. दोनों प्रोजेक्ट रघुबर दास के कार्यकाल में शुरू हुए थे जिसमें नए विधानसभा भवन का उद्घाटन सितंबर, 2019 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया था. झारखंड हाईकोर्ट का भवन निर्माण कार्य अभी चल रहा है.

मुख्यमंत्री कार्यालय से जारी एक बयान में कहा है- चीफ मिनिस्टर हेमंत सोरेन ने नवनिर्मित झारखंड विधानसभा और झारखंड हाईकोर्ट के निर्माण में वित्तीय अनियमितता की जांच एसीबी को करने का आदेश दिया है. 39 एकड़ में फैले झारखंड विधानसभा परिसर को बनाने पर 465 करोड़ रुपए खर्च हुए हैं जबकि हाईकोर्ट की बन रही बिल्डिंग का अनुमानित खर्च 697 करोड़ है. सूत्रों का कहना है कि दोनों भवनों का निर्माण का ठेका एक ही ठेकेदार को दिया गया जिसमें पहले कम खर्च की परियोजना की प्रोजेक्ट लागत बाद में बढ़ाई गई. 

झारखंड में उठेगा फिल्म का पर्दा, सिनेमा हॉल, मल्टीप्लेक्स अगले हफ्ते खुलेंगे !

झारखंड विधानसभा का नया भवन पहले भी खबरों रहा है जब छत से पानी रिसने के कारण इसका फॉल्स सीलिंग दो बार टूटकर गिर गया. इसके बाद से ही विधानसभा भवन के निर्माण की गुणवत्ता पर सवाल उठ रहे थे. झारखंड हाईकोर्ट का भवन निर्माण चल ही रहा है और इसको लेकर हाईकोर्ट में ही एक याचिका भी दाखिल की गई है. रघुवर दास 2016 के राज्यसभा चुनाव में हॉर्स ट्रेडिंग यानी विधायकों की खरीद-फरोख्त से वोट हासिल करने के एक केस में उलझे हुए हैं.

अन्य खबरें