कांग्रेस झारखंड प्रभारी RPN सिंह रांची पहुंचे, MLA के बाद CM सोरेन से मिलेंगे

MRITYUNJAY CHAUDHARY, Last updated: Thu, 2nd Sep 2021, 12:18 AM IST
  • झारखंड कांग्रेस प्रमुख RPN सिंह बुधवार देर रात को रांची पहुंचे. रांची पहुंचते ही कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने आरपीएन सिंह के पहुंचने पर पारंपरिक तरीके से स्वागत किया. वहीं रांची में वह गुरुवार को कांग्रेस की विधायक दल की बैठक में शामिल होंगी.
कांग्रेस के झारखंड प्रभारी आरपीएन सिंह का रांची एयरपोर्ट पर नेताओं ने पारंपरिक तरीके से स्वागत किया

रांची. कांग्रेस के झारखंड प्रभारी RPN सिंह रांची पहुंचे. रांची पहुंचते ही आरपीएन सिंह का कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने पारंपरिक तरीके से स्वागत किया गया. रांची पहुंचने के बाद आरपीएन सिंह ने कहा कि वह कांग्रेस विधायक दल की बैठक में मौजूद रहेंगे. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि कांग्रेस की नई टीम बनाई जाएगी. जो जनता की आवाज बनेगी. इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि घोषणापत्र में किए वादों को भी पूरा करवाया जाएगा.

रांची पहुंचने के बाद आरपीएन सिंह ने बुधवार की देर रात को पहुंचे. रांची पहुंचते ही उन्होंने कांग्रेस के सीनियर नेताओं के साथ मुलाकात की. इसके साथ ही वह गुरुवार को होने वाली कांग्रेस विधायक दल की बैठक में हिस्सा लेंगे. उसके बाद वह राज्य में बीस सूत्री कमेटियों को अंतिम रूप देने पर RPN सिंह अपनी सहमति प्रदान करेंगे. इससे पहले भी आरपीएन सिंह के निर्देश पर पहले झामुमो और राजद के साथ मिलकर कांग्रेस के सीनियर नेताओं के साथ बीस सूत्री और निगरानी कमेटियों के चयन को लेकर फॉर्मूला तय कर चुके है.

रांची पहुंचने पर किया गया पारंपरिक स्वागत

झारखंड के महाधिवक्ता और अपर महाधिवक्ता पर हाईकोर्ट ने चलाया अवमानना का केस

जानकारी के अनुसार बीस सूत्री कमेटियों पर सभी की निगाहें लगी हुई है. जिसको लेकर कांग्रेस की तरफ से अभी तक कुछ साफ नहीं किया गया है. इतना ही नहीं पार्टी के बड़े नेता भी इसपर कुछ कहने से बच रहे है. गुरुवार को कांग्रेस की बैठक के बाद RPN सिंह मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के साथ बैठक भी करेंगे. जिसे काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है.

बता दें कि हाल ही में राजेश ठाकुर को झारखंड कांग्रेस का नए प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया था जिसके बाद ठाकुर ने राहुल गांधी, प्रियंका गांधी और आरपीएन सिंह का शुक्रिया भी अदा किया था. राजेश ठाकुर से पहले हेमंंत सोरेन सरकार में कैबिनेट मंत्री बने रामेश्वर उरांव पर यह जिम्मेदारी थी.

अन्य खबरें