कांग्रेस भवन में आपस में भिड़े कांग्रेसी, तू-तू मैं-मैं से बात धक्का मुक्की तक

Smart News Team, Last updated: 22/02/2021 09:24 PM IST
  • पार्टी के कार्यकारी अध्यक्षों और प्रवक्ताओं के बीच जमकर हंगामा हुआ. तू तू-मैं मैं से बात धक्का-मुक्की तक पहुंच गई. प्रदेश अध्यक्ष डॉ रामेश्वर उरांव और विधायक दल के नेता आलमगीर आलम के सामने पूरा वाकया हुआ. पार्टी नेताओं द्वारा समझाने के बाद मामला शांत कराया जा सका.
कांग्रेस भवन में आपस में भिड़े कांग्रेसी, तू-तू मैं-मैं से बात धक्का मुक्की तक

रांची: रांची के कांग्रेस भवन में सोमवार को महंगाई का विरोध करने और रणनीति बनाने और जिलों में जाकर लोगों को जागरूक करने के का खाका तैयार करने के लिए आए कांग्रेसी नेता आपस में ही भिड़ गए. पार्टी के कार्यकारी अध्यक्षों और प्रवक्ताओं के बीच जमकर हंगामा हुआ. तू तू-मैं मैं से बात धक्का-मुक्की तक पहुंच गई. प्रदेश अध्यक्ष डॉ रामेश्वर उरांव और विधायक दल के नेता आलमगीर आलम के सामने पूरा वाकया हुआ. पार्टी नेताओं द्वारा समझाने के बाद मामला शांत कराया जा सका.

रांची कांग्रेस भवन में पेट्रोल डीजल और गैस सिलेंडर के बढ़ते दाम के खिलाफ आंदोलन की रूपरेखा तैयार करने को लेकर कांग्रेस पार्टी की बैठक आयोजित की गई थी. बैठक में पहले चरण में तीन दिनों के आंदोलन का निर्णय लिया गया. इसमें नेताओं को जिलों में जाकर कार्यक्रम करने की जिम्मेदारी दी गई. बैठक खत्म होने की स्थिति में प्रवक्ता आलोक दुबे ने कार्यकारी अध्यक्ष केशव महतो कमलेश की ओर इशारा करते हुए कहा कि अब आप चिट्ठी काट दीजिए. इस पर केशव महतो कमलेश ने प्रदेश अध्यक्ष डॉ रामेश्वर उरांव से इसकी शिकायत की.

मार्शल आर्ट के खिलाड़ियों से मिले अभिनेता सुनील शेट्टी, फिट रहने की दी नसीहत

उन्होंने कहा कि आए दिन इस तरह से उन पर कटाक्ष किए जाते हैं. अब आपके (प्रदेश अध्यक्ष के) सामने ही अनुशासनहीनता की जा रही है. ऐसे में काम करना मुश्किल है. पार्टी नेताओं ने बताया कि प्रवक्ता आलोक दुबे की ओर से कार्यकारी अध्यक्षों को भी अपने प्रभाव वाले जिलों में जाकर कार्यक्रम करने की बात कही गई. उस पर कार्यकारी अध्यक्ष मानस सिन्हा और संजय लाल पासवान कहने लगे कि वे तो नहीं कहेंगे कि कार्यकारी अध्यक्ष क्या काम करें. इस पर तू-तू मैं-मैं शुरू हो गई और पार्टी का काम नहीं कर सिर्फ फोटो खिंचवाने, पोस्टर लगवाने से लेकर शराब पीने हंगामा करने के आरोप तक एक दूसरे पर आरोप लगाए गए.

मोबाइल फोन के निर्यात में यूपी बना नंबर वन राज्य, सिर्फ तीन साल में 25 गुना बढ़ा

एक दूसरे को राजनीति में लाने से लेकर आगे बढ़ाने तक की बात कही गई. प्रदेश अध्यक्ष डॉ रामेश्वर उरांव और विधायक दल के नेता आलमगीर आलम लगातार उन्हें शांत रहने और मर्यादाओं का पालन करने का आग्रह करते रहे लेकिन तू तू मैं मैं धक्का-मुक्की तक पहुंच गई. पार्टी के अन्य नेताओं के प्रयास से उन्हें अलग किया गया और मामला शांत कराया गया. विधायक दल के नेता आलमगीर आलम और कार्यकारी अध्यक्ष बैठक से बाहर निकल गए. बाद में आदेश अध्यक्ष के आग्रह पर वे लौटे और बैठक पूरी हुई. साथ ही आपस में मेल मिलाप हुआ.

शबनम की फांसी पर बोले अयोध्या के महंत, 'फांसी हुई तो आपदाओं को मिलेगा न्यौता'

नहीं है कोई मनमुटाव सबने निकाला अपना फ्रस्ट्रेशन : डॉ रामेश्वर उरांव प्रदेश अध्यक्ष कोंग्रेस पार्टी

प्रदेश अध्यक्ष डॉ रामेश्वर उरांव ने कहा कि पार्टी में किसी के बीच कोई मनमुटाव नहीं है. मन में जो फ्रस्ट्रेशन था वह बाहर निकल गया है. कांग्रेस जिंदा पार्टी है और जिंदा पार्टी और जो जिंदा पार्टी होती है वहां ही हॉट टॉक होता है. यह घर की लड़ाई है, इसे सुलझा लिया गया है. आलाकमान तक इस तरह की बातें पहुंचाने की आवश्यकता नहीं है.

 

अन्य खबरें