इलाज के कमी से अस्पताल में कोरोना मरीज की मौत, परिजन ने मंत्री को सुनाई खरी-खोटी

Smart News Team, Last updated: Tue, 13th Apr 2021, 7:40 PM IST
  • झारखंड के सदर अस्पताल में इलाज न होने की वजह से कोरेाना मरीज की मौत हो गई. इसी दौरान निरीक्षण को पहुंचे स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता को मरीज के परिजनों ने खरी खोटी सुनाई है. परिजनों का आरेाप है कि अस्पताल की लापरवाही से मौत हुई है.
झारखंड सरकार के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने रांची के सदर अस्पताल का निरीक्षण किया.

राँची. झारखंड की राजधानी रांची में कोरोना के कहर के बीच स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता सदर अस्पताल का निरीक्षण करने पहुंचे. इसी दौरान अस्पताल में बिना इलाज के एक व्यक्ति की मौत हो गई. इलाज के अभाव में मौत होने से परिजनों ने स्वास्थ्य मंत्री को खूब-खरी खोटी सुनाई. परिजनों ने आरोप लगाया कि बार-बार कहने के बाद भी न कोई डॉक्टर आया और न ही कोई नर्स आई.

स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर को देखते हुए सदर अस्पताल पहुंचकर व्यवस्था का जायजा लिया. बीते कई दिनों से अस्पताल प्रबंधन की लापरवाही सामने आ रही थी. इस वजह से लोगों की जान जा रही है. उन्होंने अस्पतान प्रबंधन को निर्देश देते हुए कहा कि सभी खामियों को तत्काल दूर किया जाए. मरीजों को सुविधा मुहैया कराई जाए.

IIM रांची में बतौर सहायक अध्यापक छात्रों को अर्थशास्त्र पढ़ाएंगे रंजीत रामचंद्रन

स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता पीपीई किट पहनकर कोविड वार्ड में मरीजों से मिलने पहुंचे. इस दौरान हजारी बाग के कोरोना मरीज ने अस्पताल की दहलीज पर ही दम तोड़ दिया. अस्पताल में उसे बेड नहीं मिला. एंबुलेंस से पहुंचने के बाद डॉक्टर मरीज का भर्ती करने में काफी देर करते रहे. इससे मरीज की मौके पर ही मौत हो गई. तभी मंत्रीजी निरीक्षण को पहुंचे. मंत्री को देखकर परिजन का गुस्सा फूट पड़ा.

नशे में धुत हंगामा कर रहा युवक गिरफ्तार, अब अपनी ही जान बचाने को भाग रही पुलिस

मृतक के परिजनों ने कहा कि हजारीबाग से इलाज के लिए सदर अस्पताल आए थे. अस्पताल प्रबंधन की ओर से कोरोना को लेकर व्यवस्था न किए जाने की वजह से दम तोड़ दिया. परिजनों ने अस्पताल प्रबंधन पर आरोप लगाते हुए कहा कि अस्पताल के न नर्स और न ही डॉक्टर मरीजों को देख रहे थे. अस्पताल कर्मियों की लापरवाही से मौत हो गई है.

 

अन्य खबरें