रांची में लगी एंबुलेंस में डेड बॉडी की कतार, लकड़ी बिना नहीं हो रहा अंतिम संस्कार

Smart News Team, Last updated: Mon, 19th Apr 2021, 4:18 PM IST
  • रांची के घाघरा स्थित मुक्तिधाम में लगी एम्बुलेंस की कतार सोमवार सुबह 7 बजे से एम्बुलेंस में डेड बॉडी लेकर पहुंचे हैं, लेकिन न लकड़ी है और न ही कोई अधिकारी मौजूद है, जिससे कि शवों का अंतिम संस्कार समय से किया जा सके.
रांची में लगी एंबुलेंस में डेड बॉडी की कतार, लकड़ी बिना नहीं हो रहा अंतिम संस्कार

रांची: राजधानी रांची में कोरोना के मामले स्वास्थ विभाग के हाथों से बाहर है, संक्रमितों की संख्या पर कोई लगाम नहीं है तो वहीं कोरोना से मारने वालों की संख्या में लगातार वृद्धि हुई है. रांची के घाघरा स्थित मुक्तिधाम में लगी एम्बुलेंस की कतार सोमवार सुबह 7 बजे से एम्बुलेंस में डेड बॉडी लेकर पहुंचे हैं, लेकिन न लकड़ी है और न ही कोई अधिकारी मौजूद है, जिससे कि शवों का अंतिम संस्कार समय से किया जा सके. आय दिन कोरोना से मरने वालों की संख्या में इजाफा हो रहा है. हम यह खबर आपको डराने के लिए नहीं सचेत करने के लिए लिख रहें हैं, की अपने घरों में रहें कोरोना नियमों का पालन करें, नहीं तो राजधानी का हैल्थ सिस्टम चर्ममारा गया है तो बाकी ग्रामीण इलाकों का क्या हाल होगा.

रांची उपायुक्त कार्यालय में मिले कोरोना संक्रमित

रांची के उपायुक्त छवि रंजन के आवासीय कार्यालय में सोमवार को तीन कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव पाये गये हैं. इसके बाद उपायुक्त कार्यालय परिसर को सैनिटाइज किया गया है. उपायुक्त छवि रंजन समेत उपायुक्त के गोपनीय कार्यालय में कार्यरत सभी पदाधिकारियों एवं कर्मियों की कोरोना जांच की गई है.

रांची के 19 थाना क्षेत्रों में एंटी क्राइम चेकिंग पॉइंट, रात 8 से सुबह 6 बजे तक चेलगा अभियान

बीते 24 घंटे में राज्‍य में 3992 कोरोना पॉजिटिव पाए गए. तो वहीं राज्य में 50 मरीजों की हुई मौत कोरोना से हुई. रांची में 11 मरीजों की मौत हुई. रांची में 1073, पूर्वी सिंहभूम में 676 नए मरीज. राज्य में संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर अब 28,010 हो गई है.

 

अन्य खबरें