अपराधियों का नेटवर्क तोड़ने के लिए चलेगा एक्सचेंज अभियान, कैदियों का होगा ट्रांसफर

Swati Gautam, Last updated: Sat, 6th Nov 2021, 1:09 PM IST
  • राज्यों की जेलों में हार्डकोर अपराधियों की अदला-बदली होगी. अपराधियों का नेटवर्क तोड़ने के लिए पुलिस एक्सचेंज अभियान चलाएगी जिसमें बड़े कैदियों को दूसरे राज्य में हाई सिक्योरिटी जेलों में भेजा जाएगा उतने ही बंदी वहां से झारखंड में भी आएंगे. कौन कौन से अपराधी और किस जगह भेजे जाएंगे इसका निर्णय लेना अभी बाकी है.
अपराधियों का नेटवर्क तोड़ने के लिए चलेगा एक्सचेंज अभियान, कैदियों का होगा जेलों में ट्रांसफर. (प्रतिकात्मक फोटो)

रांची. राज्य में अब जेल में बंद हार्डकोर अपराधियों के लिए मुश्किलें बढ़ने वाली हैं. राज्य में एक्सचेंज कार्यक्रम चलाया जाएगा. जिसमें राज्यों की जेलों में हार्डकोर अपराधियों की अदला-बदली होगी. इतना ही नहीं अब जितने कैदी दूसरे राज्य में जाएंगे, उतने ही बंदी वहां से झारखंड में भी आएंगे. कहा जा रहा है कि अपराधियों का ये एक्सचेंज अभियान अपराधियों के नेटवर्क को तोड़ने के लिए चलाया जा रहा है. हार्डकोर अपराधियों के एक्सचेंज अभियान के लिए झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने भी सहमति दे दी है.

गृह विभाग ने जेल आइजी सहित सभी जिम्मेदार अधिकारियों को निर्देश जारी कर दिया है. ये हार्डकोर किस राज्य में भेजे जाएंगे, रिपोर्ट में इसका जिक्र नहीं किया गया है. कौन से हार्डकोर अपराधी कहां जाएंगे, इसपर भी अभी निर्णय लेना बाकी है. ट्रांफर करने वाली अपराधियों को हाई सिक्यूरिटी जेलों में स्थानांतरित किया जाएगा जहां से कॉल व किसी से कॉन्टेक्ट करना मुश्किल होगा. बताया जा रहा है कि कारा महानिरीक्षक की अनुशंसा पर संबंधित राज्य से प्रशासनिक स्तर पर पत्राचार किया जाएगा और वहां से सहमति के बाद कैदियों की अदला-बदली होगी.

रांची में घर-घर राशन कार्ड की जांच करेगा जिला प्रशासन, BDO व CO को बनाया गया नोडल अफसर

प्रशासन का कहना है कि वाट्सएप व इंटरनेट कॉल से व्यवसायियों की नाक में दम करने वाले राज्य की जेलों में बंद शातिरों के साम्राज्य को तोड़ने के लिए ही यह निर्णय लिया गया है. पुलिस मुख्यालय ने राज्य सरकार को जानकारी दी थी कि विभिन्न जिलों में संचालित कोल परियोजनाओं व अन्य विकास परियोजनाओं में संलग्न ठेकेदारों, ट्रांसपोर्टरों, आउटसोर्सिंग कंपनियों के पदाधिकारियों, कर्मियों को फोन के माध्यम से रंगदारी व भयादोहन कर रहे हैं जिनमें जेल में बंद अपराधी शामिल है.

अन्य खबरें