चारा घोटाला: डोरंडा कोषागार मामले में 15 फरवरी को फैसला, लालू को फिर हो सकती है सजा

Jayesh Jetawat, Last updated: Sat, 29th Jan 2022, 5:17 PM IST
  • चर्चित चारा घोटाला से जुड़े डोरंडा कोषागार से अवैध निकासी के मामले में रांची की सीबीआई कोर्ट 15 फरवरी को अपना फैसला सुनाएगी. बिहार के पूर्व सीएम लालू प्रसाद यादव समेत 102 आरोपियों को इस दिन कोर्ट में उपस्थित रहने के लिए कहा गया है.
बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव (फाइल फोटो)

रांची: बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी लालू प्रसाद यादव से जुड़े चारा घोटाले के सबसे बड़े मामले में 15 फरवरी को फैसला आएगा. शनिवार को सीबीआई के विशेष न्यायाधीश एसके शशि की अदालत ने मामले के अंतिम आरोपी की ओर से बहस पूरी होने के बाद फैसले की तारीख निर्धारित की. रांची की सीबीआई कोर्ट ने लालू प्रसाद समेत 102 आरोपियों को व्यक्तिगत रूप से अदालत में उपस्थित रहने का निर्देश दिया है. चारा घोटाले में लालू यादव को फिर सजा हो सकती है.

बता दें कि डोरंडा कोषागार से 139 करोड़ रुपए की अवैध निकासी मामले में लालू प्रसाद समेत 102 लोग ट्रायल फेस कर रहे हैं. हालांकि बहस के दौरान दो-तीन आरोपियों की मौत हो चुकी है. लेकिन उनकी ओर से मृत्यु प्रमाण पत्र नहीं दिए जाने के कारण उनका नाम नहीं काटा गया है. रांची स्थित सीबीआई कोर्ट में चारा घोटाले से जुड़े 53 केस दर्ज किए गए, जिनमें से 51 केस का निष्पादन हो चुका है. 

नीतीश के मंत्री मुकेश सहनी बोले- तेजस्वी छोटे भाई, हम लालू यादव को मानने वाले लोग हैं

क्या है मामला?

डोरंडा कोषागार मामला चारा घोटाले से जुड़ा सबसे बड़ा केस है. जब लालू प्रसाद यादव मुख्यमंत्री थे, तब डोरंडा कोषागार से करीब 139 करोड़ रुपये की अवैध निकासी की गई. ये पैसा फर्जी आवंटन, फर्जी आपूर्ति, फर्जी रसीद के सहारे निकाला गया. पशुओं की ढुलाई के लिए स्कूटर, बाइक, ऑटो, जीप का इस्तेमाल किया गया. लालू प्रसाद यादव समेत अन्य आरोपियों पर सरकारी राजस्व की गड़बड़ी के आरोप हैं.

 

अन्य खबरें