जेल में बंद लालू प्रसाद यादव 2 साल 7 महीने से करा रहे थे इलाज

Smart News Team, Last updated: Sun, 18th Apr 2021, 12:14 AM IST
दिल्ली के एम्स में भर्ती लालू प्रसाद यादव पिछले 2 साल 7 महीने से दिल्ली की एम्स और रिम्स में अपना उपचार ही करवा रहे हैं. डॉक्टर के अनुसार लालू करीब 15 बीमारियों से ग्रसित हैं. जिसमें सबसे खतरनाक लालू प्रसाद यादव की एक किडनी 60 प्रतिशत काम नही करती है. 
लालू प्रसाद को मिला जमानत. (फाइल फोटो)

रांची : बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव पिछले दो साल और सात महीने से इलाज करवा रहे हैं. जिसमें लालू प्रसाद यादव ने रिम्स में दो साल चार महीने और सात दिन तक अपना इलाज़ करवाया और दो माह 24 दिन तक दिल्ली के एम्स में अपना इलाज करवाया है.लालू प्रसाद यादव को इसी साल 24 जनवरी को नई दिल्ली के एम्स में ले जाया गया था. लालू प्रसाद यादव चारा घोटाला में दिल्ली के तिहाड़ जेल के कैदी है. 

लालू प्रसाद यादव को 29 अगस्त 2018 को रिम्स में लाया गया था. रिम्स में लाने से पहले लालू प्रसाद यादव एम्स में ही भर्ती थे. कई बीमारियों से जूझ रहे लालू प्रसाद यादव को रिम्स के कार्डियोलॉजी विभाग में रखा गया था. प्रिंस की एक कार्डियोलॉजी विभाग के दूसरे फ्लोर पर लालू को रखा गया था. जहां रात उन्हें कुत्तों के भौंकने के आवाज़ से परेशानी होती थी. जिसके बाद उन्हें 5 सितंबर को रिम्स के पेइंग वार्ड में शिफ्ट करा दिया गया. बाद में कोरोना संक्रमण  फैलने के डर से लालू को रिम्स निर्देशक के बंगले में शिफ्ट कर दिया गया. 

चारा घोटाला मामले में लालू यादव को मिली जमानत, जेल से बाहर आने के लिए तैयार

लालू प्रसाद यादव पिछले कई सालों से कई बीमारियों से परेशान हैं. लालू प्रसाद का इलाज करने वाले डॉक्टर के अनुसार लालू प्रसाद यादव करीब 15 बीमारियों से पीड़ित हैं. लालू प्रसाद यादव का एक किडनी लगभग 40% ही काम करता है. लालू प्रसाद यादव का रिम्स में करीब 6 बार यूरिन इन्फेक्शन हो चुका है. लालू ह्रदय रोग के भी मरीज हैं. साथ ही लालू प्रसाद यादव को टाइप टू का डायबिटीज भी है. इसके साथ लालू प्रसाद यादव को ब्लड प्रेशर की भी शिकायत रहती है.

ट्रेन में कर रहें यात्रा तो लगाएं मास्क, नहीं तो 500 जुर्माना और 6 महीने तक....

बिहार में कोरोना का हाहाकार, पटना और मुजफ्फरपुर में टूटे रिकॉर्ड, जानें पूरा हाल

नीतीश सरकार का ऐलान- दूसरे राज्य से लौटे प्रवासी मजदूरों को राज्य में मिलेगा रोजगार

 

अन्य खबरें