पूर्व भारतीय क्रिकेट कप्तान धोनी को गो-पालन में मिला नंबर वन अवार्ड

Smart News Team, Last updated: 07/03/2021 12:25 PM IST
  • क्रिकेटर धोनी ने पशुपालन क्षेत्र में बेहतर कार्य व योगदान देने के लिए सर्वश्रेष्ठ गो-पालक का खिताब जीता है. यह खिताब उन्हें शनिवार को पशु-पक्षी प्रदर्शनी में मिला. जिसमें उन्हें शॉल व स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया. इस प्रदर्शनी में उनकी दो गाय शामिल थी.
किसान मेले में धोनी को मिला सर्वश्रेष्ठ गो-पालक का खिताब

रांची. क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी ने पूर्वी भारत में सर्वश्रेष्ठ गो-पालक का खिताब अपने नाम किया है. यह खिताब उन्हें पशुपालन क्षेत्र में श्रेष्ठ कार्य करने एवं इस क्षेत्र में योगदान देने के लिए मिला. धोनी ने अपनी दो गायों को पशु-पक्षी प्रदर्शनी में शामिल किया था. इस प्रदर्शनी को बिरसा कृषि विश्वविद्यालय में चल रहे पूर्वी क्षेत्र प्रादेशिक एग्रोटेक किसान मेले में आयोजित किया गया था. जिसमें उन्हें शनिवार को स्मृति चिन्ह एवं शॉल सम्मान के रूप में भेंट की गयी. इस सम्मान को धोनी के प्रतिनिधि कुणाल गौरव ने स्वीकार किया.

इस प्रदर्शनी में विजेताओं को चुनने के लिए छह सदस्यों की निर्णायक मंडली थी. जिसमें चयन की प्रकिया में गाय की शारीरिक संरचना, दूध की क्षमता आदि को शामिल किया गया था. इस कार्यक्रम में विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. ओंकार नाथ, सभी वैज्ञानिक, शिक्षक एवं अन्य लोग शामिल थे. इस प्रदर्शनी का उद्घाटन विधानसभा अध्यक्ष रबींद्र नाथ ने किया था. जिसमें धोनी की दो गाय व एक गाय का बच्चा शामिल था. दोनों गायों मेंं से एक क्रॉस ब्रीड एवं दूसरी साहिवाल ब्रीड की थी. दोनों गाय प्रतिदिन करीब 35 लीटर दूध देती है.

झारखंड में हैं अपार संभावनाएं, उद्योगपति करें बढ़चढ़ कर निवेश: CM हेमंत सोरेन

कृषि और पशुधन को लेकर अध्यक्ष रबींद्र नाथ का कहना है कि इसमें भारतीय समाज की संपन्नता निहित है. इसलिए किसानों को उनकी उपज का सही दाम एवं बाजार उपलब्ध कराने की जरूरत है. वहीं पशु प्रबंधन पर विधायक सरयू राय ने वैज्ञानिकों को अधिक योगदान देने व पशुपालन को अधिक उपयोगी और लाभकारी बनाने को कहा. इसके साथ ही उन्होंने प्रकृति, कृषि, पशु और पक्षियों का संरक्षण करने पर भी जोर दिया.

झारखंड: स्कूलों को कितने बच्चे आ रहे हैं कि देनी होगी रिपोर्ट, जानें पूरा मामला

अन्य खबरें