झारखंड: अब जमीनों की हेराफेरी पर लगेगा ब्रेक, नए मालिक के नाम से बनेगा नक्शा

Smart News Team, Last updated: Mon, 23rd Aug 2021, 6:32 PM IST
  • झारखंड में अब जमीन की ब्रिकी को लेकर जो हेरा-फेरी हो रही थी. उस पर अब रोक लगने वाली है. भू-राजस्व विभाग अपनी ओर से नई तैयारी करने में जुटा हुआ है, जिसके चलते अब जमीन की खरीदारी और बिक्री के साथ-साथ खरीदार के नाम से नक्शा तक बनाया जाने वाला है.
झारखंड में लगेगी जमीन की खरीद-बिक्री में हेराफेरी पर रोक

रांचीं. झारखंड में अब जमीन की बिक्री को लेकर किसी भी तरह की धोखाधड़ी करना आसान नहीं होने वाला है. इसको लेकर भू-राजस्व विभाग की ओर से नई तैयारी होने लगी है. राज्य के अंदर जमीन की खरीद-बिक्री होने के साथ-साथ खरीदार के नाम से नक्शा तक बनाया जाएगा. ऐसा करने के लिए विभाग नेशनल इंस्टीच्यूट ऑफ स्मार्ट गवर्नेंस की मदद लेने वाला है.

लेकिन सबसे हैरानी वाली बात ये है कि सरकार और विभाग की इस तैयारी पर विपक्षी दल बीजेपी को बिल्कुल भी भरोसा नहीं हो रहा है. इस पूरे मामले को लेकर बीजेपी के प्रवक्ता का ये कहना है कि हार्डवेयर या फिर सॉफ्टवेयर को बदलने की बजाए जमीन को लेकर नजरिया बदलना जरुरी है. ऐसा इसीलिए क्योंकि खुद हेमंत सोरेन परिवार पर जमीन हड़पने के कई मामले इस वक्त लंबित हैं.

JEE Main Exam 2021: जेईई मेन की आखिरी परीक्षा के लिए टॉपर्स फिर से कर रहे तैयारी

भू-राजस्व विभाग नई तकनीक को लेकर नेशनल इंस्टीच्यूट ऑफ स्मार्ट गवर्नेंस की मदद लेने जा रहा है. इसका साफ तौर पर नया उद्देश्य ये है कि नए सॉफ्टवेयर तैयार कर राज्य में जो धोखाधड़ी को लेकर खेल चल रहा है उसको रोकने की कोशिश करना. वैसे देखने वाली बात तो यहां ये उठती है कि राज्य इसे कितना सफल बना पता है. वैसे देखा जाए सत्ताधरी पार्टी के अंदर से सरकार को केरल की तरह जमीन के मामलों का समाधान करने की सलाह तक दी जा रही है. वैसे ऐसा करना इसीलिए जरुरी है क्योंकि आए दिन जमीन के मामले को लेकर लोगों के बीच जमकर विवाद खड़े होते हुए नजर आए हैं.

अन्य खबरें