झारखंड: 12 हजार वकीलों को प्रमाणपत्रों का सत्यापन कराने का अंतिम अवसर, जानें डेट

Smart News Team, Last updated: Sun, 8th Nov 2020, 7:34 AM IST
  • झारखंड के 12 हजार वकीलों को अपने प्रमाणपत्रों का सत्यापन कराने के लिए अंतिम अवसर दिया गया है. बार कौंसिल ऑफ इंडिया ने इन वकीलों को 15 नवंबर तक अपना सभी ब्योरा देने के लिए कहा है. 
झारखंड के 12 हजार वकीलों को अपने प्रमाणपत्रों का सत्यापन कराने के लिए 15 नवंबर तक का समय दिया गया है.

रांची. झारखंड के 12 हजार वकीलों ने अपने प्रमाणपत्रों का सत्यापन नहीं कराया हैं. इन वकीलों को झारखंड बार कौंसिल की तरफ से प्रमाणपत्रों का सत्यापन कराने के लिए एक मौका दिया गया है. बार कौंसिल ऑफ इंडिया ने सभी राज्यों के बार कौंसिल को वकीलों को सत्यापन कराने से संबंधित निर्देश जारी किया है. इन वकीलों को 15 नवंबर तक अपना सभी ब्योरा है. अगर नहीं दें पाते हैं तो इनके लाइसेंस रद्द कर दिए जाएंगे और वकालत पर रोक लग जाएगी.

वकीलों को सत्यापन कराने का यह अंतिम मौका दिया गया है. मिली जानकारी के अनुसार झारखंड बार कौंसिल से करीब 30 हजार वकील रजिस्टर्ड हैं. अभी तक 19 हजार वकीलों ने अपने प्रमाणपत्रों का सत्यापन कराया है. वकीलों को कौंसिल की तरफ से 15 नवंबर तक ब्योरा देने के लिए कहा गया है. यह वकीलों को अंतिम अवसर दिया गया है. कौंसिल ने यह भी स्पष्ट कर दिया है कि अब तारीख को आगे नहीं बढ़ाया जाएगा. 

झारखंड आदिवासियों को भाने लगी गेहूं की रोटियां, धान के साथ शुरू की गेहूं की खेती

बार कौंसिल के वेरिफिकेशन रूल्स 2015 के अनुसार सभी बार कौंसिल को वकीलों को अपने प्रमाणपत्रों का सत्यापन करवना जरुरी है. सुप्रीम कोर्ट ने इस नियम को अनिवार्य रूप से लागू कराने का निर्देश भी दिया है. सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद बार कौंसिल वकीलों के प्रमाणपत्रों का सत्यापन करना शुरू कर दिया है. सभी प्रमाणपत्रों के साथ एक फॉर्म भर कर देना होता है. इसके बाद कौंसिल की तरफ से वकीलों के संबंधित विश्वविद्यालय और संस्थानों में उनके प्रमाणपत्रों की जांच कराने के लिए भेजा जाता है. 

बेरोजगारों को ट्रेनिंग देकर बनाता था साइबर फ्रॉड, बैंक कर्मचारियों से थी मिलीभगत

सत्यापन पूरा हो जाने के बाद वकीलों की कौंसिल के सभी कार्यक्रमों में आने की अनुमति मिल जाती है. इसके अलावा कल्याणकारी योजनाओं का लाभ और कौंसिल के चुनाव में भाग लेने की भी छूट मिल जाती है. 

अन्य खबरें