झारखंड : कल 9वीं से ऊपर के खुलेंगे स्कूल, सफाई के साथ सैनिटाइजेशन का काम पूरा

Mithilesh Kumar Patel, Last updated: Thu, 3rd Feb 2022, 9:40 PM IST
  • झारखंड की राजधानी रांची समेत कुल 17 जिलों के स्कूल कॉलेज कल यानी शुक्रवार 4 जनवरी से पूरी तरह खुल जाएंगे. इसके लिए राज्य सरकार की ओर से स्वीकृति मिलने के बाद पिछले दो दिनों से स्कूलों में साफ सफाई के साथ सैनिटाइजेशन का काम कराया जा रहा था. फिलहाल राज्य के 7 जिलों में प्रतिबंध जारी है.
कल से इन 17 जिलों में खुलेंगे स्कूल और कॉलेज

रांची. झारखंड की राजधानी रांची समेत कुल 17 जिलों के स्कूल कॉलेज कल यानी शुक्रवार 4 जनवरी से पूरी तरह खुल जाएंगे. इसके लिए राज्य सरकार की र से स्वीकृति मिलने के बाद पिछले दो दिनों तैयारी की जा रही थी जो गुरुवार को पूरी कर ली गई. बीते दो दिनों से स्कूलों में साफ सफाई के साथ सैनिटाइजेशन का कार्य कराया जा रहा था.

जानकारी मिल रही है कि राज्य के 17 जिलों में 9वीं से ऊपर की सभी कक्षाएं ऑफलाइन चलाए जाने का ऐलान किया गया है. ऐसे में एक बार फिर से छात्र-छात्राएं क्लासरुम में बैठ कर पढ़ सकेंगे. इसके लिए स्कूल प्रबंधकों ने भी अपनी तरफ से पूरी तैयारी पूरी कर ली है. वहीं 9वीं कक्षा से नीचे के स्टूडेंट की कक्षाएं ऑनलाइन ही संचालित की जाएंगी.

सरकारी योजनाओं से जुड़ कर आत्मनिर्भर बनने लगी महिलाएं, सुधार रही परिवार की आर्थिक

कोरोना मामलों की संख्यां काफी कमी के चलते राज्य सरकार द्वारा फिर से बंद पड़े स्कूलों को खोले जाने की अनुमति दी गई है. उसी को लेकर गुरुवार तक कई स्कूलों में साफ-सफाई और सेनेटाइजेशन का काम पूरा कराया गया. स्कूल प्रबंधकों ने बताया कि उन्होंने बच्चों को व्हाट्सएप ग्रुप के माध्यम से ऑफलाइन कक्षा में शामिल होने का संदेश दे दिया है.

बता दें कि कोरोना की दूसरी लहर के बाद पिछले साल 6 अगस्त 2021 को स्कूल खोलने के फैसला लिया गया था. उसके बाद से लेकर 24 दिसंबर, 2021 तक ऑफलाइन कक्षाएं संचालित की गई. इसके बाद शीतकालीन सत्र के लिए स्कूल बंद किया गया. हालांकि इस सत्र के बीतने के बाद 3 जनवरी से स्कूल खोले जाने थे. मगर इसी बीच 3 और 4 जनवरी को स्कूलों में 15 से 18 वर्ष के बच्चों का वैक्सीनेशन शुरू हुआ था. फिर इस दौरान कोरोना के तीसरे लहर में संक्रमण की रफ्तार को देखते हुए स्कूलों को एक बार फिर से बंद करने का फैसला लिया गया. तब से बंद चल रहा था. मगर अब जब कोरोना सक्रमण की रफ्तार कम हुई है तब एक बार फिर से स्कूल अपने तौर तरीके से संचालित कराए जाने के लिए खोले जा रहे हैं.

अन्य खबरें