अब असिस्टेंट प्रोफेसर की नियुक्ति के लिए PhD होगी जरूरी, UGC ने जारी किया आदेश

Pallawi Kumari, Last updated: Wed, 13th Oct 2021, 12:17 PM IST
  • झारखंड के विश्वविद्यालयों और महाविद्यालयों में असिस्टेंट प्रोफेसर बनने के लिए PhD की डिग्री एक जुलाई 2023 से अनिवार्य होगी. वहीं एक जुलाई 2021 से एक जुलाई 2023 तक होने वाली भर्तियों के लिए पीएचडी डिग्री अनिवार्य नहीं होगी. कोविड-19 को देखते हुए केंद्र के निर्देश पर यूजीसी ने यह निर्णय लिया है.
जुलाई 2023 से असिस्टेंट प्रोफेसर बनने के लिए पीएचडी होगी जरूरी. प्रतिकात्मक फोटो

रांची. विश्वविद्यालयों और महाविद्यालयों में असिस्टेंट प्रोफेसर की भर्तियों के लिए पीएचडी डिग्री की अनिवार्यता में फेर बदल किए गए है. यूजीसी के मुताबिक एक जुलाई 2021 से एक जुलाई 2023 तक असिस्टेंट प्रोफेसर भर्ती के लिए पीएडी डिग्री पर छूट दी गई है. लेकिन इसके बाद बाद पीएचडी डिग्री को अनिवार्य. कर दिया जाएगा. जानिए असिस्टेंट प्रोफेसर के लिए कब से जरूरी होगी पीएचडी.

यूजीसी ने रेगुलेशन 2018 का संशोधित गजट 12 अक्तूबर 2021 को जारी किया है, जिसके मुताबिक असिस्टेंट प्रोफेसर की नियुक्ति के लिए पीएचडी की अनिवार्यता एक जुलाई 2021 से निर्धारित की गयी थी. लेकिन कोविड-19 को देखते हुए केंद्र के निर्देश पर यूजीसी ने यह निर्णय लिया है कि एक जुलाई 2023 तक असिस्टेंट प्रोफेसर की नियुक्ति के लिए पीएचडी डिग्री पर छूट दी जाए. 

झारखंड का शार्प शूटर राजकुमार मुंडा गिरफ्तार, रचने वाला था बड़ी साजिश

यूजीसी के संशोधित गजट के आधार पर अब इसे झारखंड में भी लागू किया जाएगा. झारखंड में भी अब विवि और कॉलेजों में शिक्षकों व अन्य शैक्षिक कर्मचारियों की नियुक्ति के लिए पीएचडी की अनिवार्यता एक जुलाई 2023 तक हो रही नियुक्ति प्रक्रिया पर लागू नहीं होगा.

हाल ही में केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने कहा कि कोविड के कारण केवल इस साल पीएचडी अनिवार्यता के लिए रोक लगी है लेकिन इसे खत्म नहीं किया गया है.केंद्रीय शिक्षा मंत्री के अनुसार, पहले सिर्फ केंद्रीय विवि में असिस्टेंट प्रोफेसर की नियुक्ति को लेकर यह छूट देने की घोषणा की गयी थी, लेकिन बाद में इसे सभी विवि और कॉलेजों के लिए लागू कर दिया गया है.

हाल ही में केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने कहा कि, कुछ समय के लिए डिग्री की अनिवार्यता को मंत्रालय द्वारा सिर्फ इस लिए हटाने का फैसला लिया गया है, क्यों कि समय पर रिक्त पदों पर भर्ती की जा सके. बता दें कि झारखंड के विवि में 1108 असिस्टेंट प्रोफेसर की नियुक्ति के लिए जेपीएससी में प्रस्ताव लंबित है.

Children Corona Vaccine: सरकारी मंजूरी के बाद 2-12 साल के बच्चों को लगेगी कोवैक

 

अन्य खबरें